विधानसभा चुनाव के पहले चिराग को मिला पिता का समर्थन, कहा- हर फैसले में उसके साथ खड़ा हूं

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार विधानसभा चुनाव के पहले बिहार के सियासी गलियारे में हलचल तेज है. ऐसे में जहां एक तरफ नीतीश कुमार ने जेडीयू की वर्चुअल रैली को लेकर कई सारे दावे किये हैं, वहीं दूसरी तरफ नीतीश से नाराज चल रहे चिराग पासवान को अपने पिता राम विलास पासवान का समर्थन मिल गया है. राम विलास दिल्ली में भर्ती, अपना इलाज करवा रहे हैं. ऐसे में उन्होंने बेटे चिराग पासवान के साथ होने की बात कही है. रामविलास ने कहा कि  वह एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान के हर फैसले के साथ मजबूती से खड़े हैं.

पिछले दिनों मेडिकल चेकअप के लिए दिल्ली के एक बड़े अस्पताल में एडमिट हुए रामविलास पासवान ने सुबह सवेरे बेहद भावनात्मक के ट्वीट करते हुए लिखा है कि मुझे इस बात की खुशी है कि मेरा बेटा चिराग मेरे साथ है और मेरी सेवा कर रहा है पार्टी से लेकर परिवार तक के हर फैसले में मैं अपने चिराग के साथ खड़ा हूं. रामविलास पासवान ने कहा है कि मेरा ख्याल रखने के साथ-साथ पार्टी के प्रति चिराग अपनी जिम्मेदारियों को बखूबी निभा रहे हैं. मुझे विश्वास है कि अपनी युवा सोच से चिराग पार्टी और बिहार को नई ऊंचाइयों तक के ले जाएंगे.



रामविलास पासवान ने एक के बाद एक ट्वीट कर इस बात का प्रमाण दे दिया है कि वह अपने बेटे चिराग के हर गतिविधि में उनके साथ हैं. उन्होंने कहा है कि देश जब कोरोना का हाल से गुजर रहा था. उस वक्त उनकी तबीयत खराब थी लेकिन देश के हर कोने में खाद्य सामग्री समय पर पहुंचे इसके लिए वह अस्पताल नहीं गए. आखिरकार जब हालात में सुधार हुआ तो बेटे चिराग के कहने पर रामविलास पासवान अस्पताल में भर्ती हुए. रामविलास पासवान ने कहा है कि उन्हें उम्मीद है कि वह जल्द ही स्वस्थ होकर अपनों के बीच वापस आ जाएंगे. बिहार एनडीए में जारी रस्साकशी के बीच चिराग पासवान ने लगातार जेडीयू के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है. नीतीश कुमार की नीतियों के उलट चिराग ने अपनी पार्टी की तरफ से चुनावी एजेंडा सामने रखा है. ऐसे वक्त में रामविलास पासवान का चिराग के लिए यह समर्थन सियासी मायने रखता है.