जनता की जान से खिलवाड़ कर रही बिहार सरकार, पार्टी नेताओं के साथ वर्चुअल मीटिंग में बोले चिराग पासवान

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क:  लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने पार्टी के बिहार कार्यकारिणी के साथ वर्चुअल बैठक की. जिसमें पार्टी के सभी सांसद, विधायक और वरिष्ठ नेता मौजूद रहे. वर्चुअल मीटिंग में बिहार में कोरोना, बाढ़ और और टेस्टिंग जैसे मुद्दों पर पार्टी नेताओँ के साथ चिराग ने चर्चा किया.

मीटिंग में चिराग पासवान ने एक बार फिर बिहार में कोरोना टेस्टिंग की रफ्तार को धीमी बताया. उन्होंने कहा कि बिहार में कोरोना जांच को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी चिंता जाहिर की है. लेकिन जेडीयू ने पीएम कि चिंता पर सवाल उठाकर उनका अपमान करने का काम किया है.



कोरोना का असली जांच आरटीपीसीआर ही हैं. इस बात को दुहराते हुए चिराग पासवान ने कहा कि बिहार सरकार के अधिकारी खुद मानते है कि प्रदेश में आरटीपीसीआर जांच एंटीजन टेस्ट की तुलना में कम हो रहे हैं. अधिकारी कह रहे हैं, पीएम चिंता रहे हैं लेकिन जेडीयू इसको अपना अपमान समझ रही है. अगर समस्याओं को उठना शिकायत है तो लोजपा यह काम करता रहेगा.

ICMR के नियम का हवाला देते हुए लोजपा अध्यक्ष ने कहा कि आईसीएमआर के अनुसार RT-PCR टेस्ट गोल्ड स्टैण्डर्ड  टेस्ट है. ICMR द्वारा दिए गए नियमों के अनुसार रैपिड एंटीजन टेस्ट सिर्फ़ कोंटमेंट ज़ोन में रहने वाले नागरिकों के लिए है. अगर किसी शख्स को रैपिड एंटीजन टेस्ट रिपोर्ट निगेटव आने पर उसको आरटीपीसीआर करना होगा. लेकिन प्रदेश में ऐसा कुछ नहीं हो रहा है.