‘प्लीज ! बिहार के सीएम साहब, मैं जो कहता हूं वो एकबार करके देखिए, आपका भ्रम दूर हो जाएगा’

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: देश के राजनेताओं समेत विभिन्न क्षेत्रों के प्रमुख हस्तियों के फोन टैपिंग मामले में चिराग ने कहा कि पूरे मामले की जांच होनी चाहिए. अगर ऐसा हो रहा है तो गलत है. लेकिन सिर्फ आरोप लगाकर सरकार की छवि खराब करने की मंशा है तो यह भी गलत है. यह पूरा मामला जांच का विषय है. सरकार ने अपना पक्ष पूरी मजबूती से संसद में रख दी है.

वहीं संसद में सरकार द्वारा यह बयान देना कि ऑक्सीजन की कमी से किसी की मौत नहीं हुई है. इसपर आश्चर्य जताते हुए उन्होंने कहा कि सरकार का यह बयान समझ से परे हैं. हमसभी ऑक्सीजन की कमी की समस्या से दो चार हुए हैं. खुद मेरे पास दिल्ली में कितने का फोन आता था, जिसमें ऑक्सीजन कमी की बात सामने आती थी.

पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम पर सीएम नीतीश के बयान पर पलटवार करते हुए चिराग ने कहा कि पिछले 15 सालों ने उन्हें बिहार और बिहारियों की समस्या से कोई वास्ता नहीं रहा है. अगर वो कहते हैं को पेट्रोल-डीजल के दाम में बढ़ोतरी के बारे में उन्हें अखबारों के माध्यम से जानकारी मिलती है, तो इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है.

आगे उन्होंने हमला बोलते हुए कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आखिरी बार कब सड़क मार्ग से बिहार का दौरा किया हो, मेरी जानकारी में नहीं है. बिहार में जब जब बाढ़ आता है सीएम हवाई सर्वेक्षण कर खानापूर्ति कर लेते हैं. यह सिलसिला हर साल जारी रहता है. मैं आग्रह करता हूं सीएम से की एक बार वो सड़क मार्ग से दौरा करने निकले, उन्हें सच्चाई पता चल जाएगा.