क्रिसमस पर कोरोना इफेक्ट: आम लोगों के लिए बंद रहा गिरिजाघर, प्रभु यीशु को यादकर लोगों ने मनाया जश्न

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: राजधानी पटना में क्रिसमस के अवसर पर इस साल कोरोना की वजह से गिरिजाघर में आम लोगों के जाने पर प्रवेश वर्जित रहा. हर साल इस मौके पर राजधानी के अलग अलग गिरिजाघरों में लोगों की भीड़ उमड़ती थी. मगर इस साल ऐसा नहीं हुआ. सुबह गिरिजाघर में प्रार्थना की गयी. उसके बाद उसे आम लोगों के लिए बंद कर दिया गया.

राजधानी के ईसाई समुदाय के लोगों ने अपने घरों में क्रिसमस का जश्न मनाया. प्रभु यीशु को याद किया. राजधानी के पार्क व होटलों में भी युवा क्रिसमस का जश्न मानाने पहुंचे. कोरोना की वजह से गिरिजाघरों में तो इस बार सन्नाटा रहा. मगर सभी ने अपने अपने अंदाज में इस त्योहार को मनाया.



हर साल ईसा मसीह के जन्मदिन के अवसर पर क्रिसमस का त्योहार मनाया जाता है. इस बार कोरोना के कारण पहली बार क्रिसमस पर सभी चर्च बंद रहे और लोगों ने घरों में रहकर ही इस त्योहार को मनाया . पटना के कुछ चर्च को छोड़ सभी को काफी अच्छे ढंग से सजाया गया था.

मिडनाइट में होने वाली प्रार्थना को रद्द कर दिया गया था और 24 दिसंबर के संध्या में ही प्रार्थना करके गेट को बंद कर दिया गया था. जिससे कि लोग भारी संख्या में मध्यरात्रि में पहुच कर कैंडल जलाकर प्रर्थना करते थे.लेकिन इस बार रद्द होने के वजह से जो लोग गेट के बाहर से दर्शन कर सकेंगे.

इस बार सामूहिक प्रार्थना के समय को दो भागों में बांट दिया गया था. कुल मिलाकर लोगों के बीच दूरी बनता है इसके लिए हर इलाके के लोगों को अलग-अलग समय पर बुलाया गया था ताकि चर्च में भीड़ ना हो.