बक्सर के चौसा में सीएम की चुनावी सभा, एनडीए प्रत्याशी परशुराम चतुर्वेदी के लिए मांगा वोट

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बक्सर विधानसभा सीट के लिए चौसा में सीएम नीतीश ने चुनावी सभा की है. जहां उन्होंने एनडीए प्रत्याशी परशुराम चतुर्वेदी के लिए वोट मांगा. इस सभा नीतीश कुमार के साथ बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी भी मौजूद थे. इस दौरान सीएम ने अपने अगले पांच सालों में करने वालों को काम को गिनाया.

उन्होंने कहा कि कोरोना के दौर में चुनाव एक बहुत बड़ी चुनौती है. केंद्र सरकार का गाइड लाइन पालन करते हुए चुनाव का आयोजन किया गया है. चुनाव का समय इतना कम है कि ज्यादा समय नहीं होते हुए भी चुनाव प्रचार प्रसार जारी है. उन्होंने कहा कि चौसा में बहुत ख़ुशी हुई है, जनता का भरपूर बहुमत मिलेगा. 15 साल पत्नी पत्नी राज था, पति अंदर पत्नी बाहर. क्या सुविधा मिली. जंगलराज था, लोग परेशान थे, अपहरण होता था, सामूहिक नरसंहार हुआ. नवंबर 2005 में हमारी सरकार बनी तब न्याय के साथ विकास हुई. जब काम करने का मौका मिला, सभी इलाकों में विकास किया.



बहुत लोग इन बातों को टालना चाहते हैं, कुछ लोगों को मौका मिला तो समाज की सेवा नहीं किये, अपनी ही सेवा करते रहे. इसीलिए अभी अंदर हैं. अभी और लोग अंदर जाएंगे. कोई जानकारी तो है नहीं और कूद जाते हैं. 15 साल में बिहार को चौपट कर के रख दिया इन लोगों ने.

महिलाओं के क्षेत्र में कितना काम हुआ है. पति पत्नी में पत्नी को राज चलाने का मौका मिल गया. लेकिन महिलाओं के उत्थान के लिए कुछ नहीं किया गया. पंचायती राज में महिलाओं को मौका तक नहीं दिया. हम लोगों ने पंचायत चुनाव में 50 फीसदी का आरक्षण दिया गया. पिछड़ा, अतिपिछड़ा को मौका मिला. अब समाज के लोग उनके भी दरवाजे पर जाने लगे. जीविका समूह से जुड़ने के बाद महिलाओं का बहुत विकास हुआ है. कितने नए स्कूलों का निर्माण, अस्पतालों का निर्माण. सर्वे में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की हालत खराब थी जब पति पत्नी की सरकार थी तब. अब हमारी सरकार में कई लोग इलाज करवाने जाते हैं.

अपराध पर नियंत्रण किया. 2018 में जो अपराध का आंकड़ा जारी हुआ है उसमें बिहार में अपराध का आंकड़ा घटा है. जो पति पत्नी के राज में बहुत ज्यादा था. लेकिन अब बिहार तरक्की के रास्तों पर है.

उन्होंने कहा कि युवाओं को नई टेक्नोलॉजी की शिक्षा दी जाएगी. महिलाओं के लिए आगे और काम किया जाएगा. अब इंटर पास करने पर 25 हजार और ग्रेजुएट होने पर 50 हजार रूपया दिया जाएगा. हर खेत तक सिंचाई का पानी पहुंचाने का काम किया जाएगा. गांव में जितना काम हुआ है उसकी देखभाल करने का काम किया जाएगा. हर गांव में सोलर स्ट्रीट लाइट लगायी जाएगी.