लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: पूरा देश अभी कोरोना वायरस के संकट को झेल रहा है. ऐसे में केंद्र और राज्य सरकार ने लोगों तक राहत पहुंचाने का एक भी मौका नहीं छोड़ा है. कई लोग जहां- तहां फंसे हुए हैं, अपने घरों से दूर हैं. लॉक डाउन के कारण कोई साधन नहीं जिससे घर आ सकें. ऐसे लोगों के सीएम नीतीश कुमार ने बड़ी घोषणा कर दी है.

मुख्यमंत्री राहत कोष से गुरुवार को बिहार सरकार ने ₹100 करोड़ की राशि जारी करने की घोषणा की. इस राशि का उपयोग लॉकडाउन (Lockdown) के कारण बिहार में फंसे मजदूर, रिक्शा चालक, ठेला वेंडर एवं अन्य गरीबों के लिए आपदा राहत केंद्र बनाने में किए जाएंगे.

बिहार सरकार द्वारा बाहर फंसे लोगों के लिए भोजन और रहने के साथ ही आपदा राहत केंद्रों पर कोरोना वायरस में संक्रमण की रोकथाम के लिए संबंधित सेवाएं भी उपलब्ध रहेंगी. बिहार सरकार ने सरकार ने दिल्ली में मौजूद बिहार सरकार के पदाधिकारियों को यह निर्देश दिया है कि वहां फंसे हुए बिहार के मजदूरों को तत्काल राहत पहुंचाई जाए.

बता दें कि देश की राजधानी में काम करने वाले तकरीबन 250 से ज्यादा मजदूरों ने श्रम विभाग को फोन कर मदद की गुहार लगाई है.