‘जो मेरे खिलाफ बयाने देते हैं, मैं उसकी परवाह नहीं करता’ बेगूसराय की सभा में नीतीश कुमार ने विरोधियों को यूं दिया जवाब…

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बेगूसराय जिले के तेघड़ा विधानसभा क्षेत्र में सीएम नीतीश कुमार ने चुनावी सभा की. इस मौके पर सीएम नीतीश ने तेघड़ा से जेडीयू प्रत्याशी बीरेन्द्र कुमार, बेगूसराय से बीजेपी प्रत्याशी कुंदन कुमार और बछवाड़ा से बीजेपी प्रत्याशी सुरेन्द्र मेहता को जीताने की अपील की.

नीतीश कुमार ने बगैर नाम लिए विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि बापू ने कहा था धरती लोगों के जरूरत को पूरा करने में सक्षम है किसी के लालच को पूरा करने में सक्षम नहीं है. हमारे यहां चंद लोग है, जिनकी मानसिकता गड़बड़ है. उनकी कोई चिंता नहीं हैं मुझे. जो मेरे खिलाफ बयान देता है, हम उसको बधाई देते हैं. खूब दो मेरे खिलाफ बयान मुझे इसकी चिंता नहीं है. हमलोग काम में विश्वास करते हैं.  



उन्होंने कहा कि पहले कौन सा काम हो रहा था. शाम होते-होते कोई अपने घर से बाहर निकलता था. ना पढ़ाई का इंतजाम, ना इलाज का, ना आने जाने का इंतजाम था. संप्रदायिक दंगा, नक्सलवाद, अपहरण होता था. बिहार के कारोबारी, डॉक्टर यहां से बाहर जाने के लिए विवश हो गए थे.

बगैर नाम लिए लालू-राबड़ी पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि पति अंदर चले गए पत्नी को सीएम बना दिया, फिर भी महिलाओं के लिए काम नहीं किया गया. आज 1.20 करोड़ महिलाएं जीविका समूह से जुड़ी है. क्या हाल था अपराध का पहले. आज हम लोगों के प्रयास से अपराध के मामले में बिहार 23वें स्थान पर है.

लोग परिवार तक सीमित रहे, लेकिन मेरे लिए पूरा बिहार एक परिवार है. आगे भी मौका मिलेगा तो विकास की रफ्तार को और तेज किया जाएगा. अगली बार गांव-गांव में सोलर स्ट्रीट लाइट लगायी जाएगी. हर खेत तक सिंचाई के लिए पानी पहुंचाया जाएगा. कई गांवों को जोड़ते हुए महत्वपूर्ण सड़कों से जोड़ा जाएगा. 8-10 ग्राम पंचायत में एक पशु अस्पताल बनाया जाएगा. पशुओं की दवा मुफ्त दी जाएगी. नई टेक्नोलॉजी के माध्यम से पशुओं का इलाज किया जाएगा.

कोरोना को देश में बहुत हद तक नियंत्रित किया गया. बिहार में तो बहुत तेजी से नियंत्रित किया गया. 10 लाख की आबादी पर देश के औसत से बिहार में 4 हजार ज्यादा जांच हो रहा है. बिहार को पोलियो से मुक्ति दिलाने का काम किया गया. पर्यावरण के संरक्षण के लिए जल जीवन हरियाली अभियान अभियान चलाया जा रहा है.