सकरा में इस तरह दहाड़े सीएम नीतीश, विपक्ष पर खूब हमला बोला है

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: मुजफ्फरपुर के सकरा में सीएम नीतीश ने सभा को संबोधित करते हुए विरोधियों पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने जंगलराज की याद दिलाई और कहा कि पति पत्नी के राज में घर से शाम को बाहर निकलना भी मुश्किल था. लेकिन जब हमें काम करने का मौका मिला तब से बिहार का क्राइम ग्राफ घटकर कम हो गया है.

उन्होंने कहा कि महिलाओं का जितना विकास हमारे राज में हुआ है उतना जंगलराज में नहीं हुआ. महिलाओं के लिए पंचायती राज संस्थाओं में, नगर निकायों में 50 प्रतिशत का आरक्षण दिया.



हमने पोशाक, साइकिल योजना की शुरुआत की. जिससे लड़कियों की संख्या बढ़ी. लड़कियों के बाद लड़कों के लिए भी हमने काम किया. अब दोनों की संख्या बराबर हो गयी है. परीक्षा में लड़कियां आगे रही. अति पिछड़े वर्ग को कोई नहीं पूछता था. महिलाओं को आगे बढ़ाने के लिए जीविका समूह का कम शुरू किया.

मुजफ्फरपुर जिले में दो जगह जाकर स्वं सहायता समूह की महिलाओं से हमने बातचीत की. जीविका समूह का गठन किया. विश्व बैंक से कर्ज लेकर जो समूह बनाया अब वह बहुत बेहतर बन चुका है. दूसरों को मौका मिला तो इन चीजों पर कोई ध्यान नहीं था. महिलाओं में जो जाग्रति आई है, उसको देखकर बहुत ख़ुशी होती है. अब हमारा समाज आगे बढ़ रहा है, बिहार आगे बढ़ रहा है. इस बार लड़कियों की संख्या लड़कों से भी ज्यादा है.

उन्होंने कहा कि पहले घर से शाम को निकलना बहुत मुश्किल था. लेकिन अब अपराध के मामले में बिहार 23वें स्थान पर है. पहले स्कूल का दर्शन नहीं होता था. बड़े पैमाने पर शिक्षकों की नियुक्ति. सड़कों का निर्माण हुआ है. पटना आने में अब लोगों को पांच घंटे से ज्यादा नहीं लगता. हर गांव को पक्की सड़क से जोड़ना. जब इतने दिनों से काम करने का मौका मिला तब हमने हर चीज को बेहतर करने की कोशिश की है.

गरीब परिवार के बच्चे पढ़ नहीं पाते थे. उनके लिए कई योजनाओं की शुरुआत की है. दलित, महादलित, और अतिपिछडा वर्ग के बच्चों स्कूल जाने की व्यवस्था की है. पहले महिलाएं पुलिस में नहीं दिखती थी. अब बिहार के पुलिस में जितनी महिलाएं काम करती हैं उतना किसी राज्य में नहीं है.