राष्ट्रपति चुनाव : नीतीश व सुशील मोदी नहीं दे पाएंगे कोविंद को वोट

हालत नाजुक, वाजपेयी की हालत गंभीर, वाजपेयी की सेहत, अटल बिहारी वाजपेयी, Vajpayee health now, atal's condition is critical, Atal Bihari Vajpayee Health, AIIMS, PrayForAtalji, मेडिकल बुलेटिन, नरेंद्र मोदी, नीतीश कुमार, सुशील कुमार मोदी, राहुल गांधी, ममता बनर्जी, अरविंद केजरीवाल, अमित शाह, लाल कृष्ण आडवानी, मुरली मनोहर जोशी, बिहार मुख्यमंत्री

लाइव सिटीज डेस्क : राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान शुरू हो चुका है. सभी दलों के विधायक व सांसद मतदान को पहुँच चुके हैं. बिहार में भी राजद, कांग्रेस और जदयू के सभी विधायक अपने उम्मीदवार को वोट करने विधानसभा पहुँच चुके हैं. लेकिन यह जानकारी दे दें कि बिहार के सीएम नीतीश कुमार राष्ट्रपति चुनाव में वोट नहीं कर पाएँगे. 

सिर्फ नीतीश कुमार ही नहीं उनके अलावा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अशोक चौधरी, भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी, राज्य सरकार में मंत्री मदन मोहन झा, मंत्री ललन सिंह  भी वोट नहीं कर सकेंगे. दरअसल, राष्ट्रपति चुनाव में विधान परिषद के सदस्य मतदान नहीं कर सकते हैं. ये सभी नेता विधान परिषद से आते हैं. लिहाजा मतदान करने के योग्य नहीं हैं.  

बता दें कि राष्ट्रपति चुनाव में नीतीश कुमार द्वारा एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को समर्थन देने के बाद से ही महागठबंधन में विवाद पैदा हो गया था. राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने इसे नीतीश कुमार की ऐतिहासिक भूल करार दिया था. बिहार में जदयू और एनडीए कोविंद को वोट करेंगे तो वहीं आरजेडी और कांग्रेस मीरा कुमार को.

देश के सर्वोच्च संवैधानिक पद के लिए सोमवार को 10 बजे से मतदान शुरू हो गया है. राज्यों की 31 विधानसभाओं और संसद में वोट डाले जा रहे हैं. वोटिंग सुबह 10 बजे से शाम पांच बजे तक की जाएगी.  इस मतदान में 4076 विधायक और संसद के दोनों सदनों के 776 निर्वाचित सांसद हिस्सा लेंगे.

मालूम हो कि इस चुनाव में रामनाथ कोविंद एनडीए उम्मीदवार हैं तो वहीं विपक्ष से मीरा कुमार राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार हैं. इन दोनों उम्मीदवार के बीच सीधा मुकाबला है. माना जा रहा है कि एनडीए उम्मीदवार रामनाथ ओविंद की जीत लगभग तय है. क्योंकि एनडीए उम्मीदवार के पक्ष में कई दल आ गए हैं.  अब बस इतनी उत्सुकता बची है कि हार और जीत का अंतर कितना होगा.

यह भी पढ़ें-  राष्ट्रपति चुनाव की वोटिंग आज, कोविंद का पलड़ा भारी, क्रॉस वोटिंग पर भी सबकी नजर