CM नीतीश ने किया बिहार शिक्षा वित्त निगम का उद्घाटन, छात्रों के लिए की बड़ी घोषणा

cm-nitish
नीतीश कुमार, सीएम बिहार

लाइव सिटीज डेस्क : सीएम नीतीश कुमार ने आज बिहार शिक्षा वित्त निगम का उद्घाटन किया. मुख्यमंत्री सचिवालय के संवाद कक्ष में आयोजित इस कार्यक्रम में सीएम नीतीश ने छात्रों के लिए बड़ा एलान भी किया. उन्होंने कहा कि जो छात्र शिक्षा लोन नहीं चुका सकते उनका लोन अब राज्य सरकार चुकाएगी. साथ ही छात्रवृत्ति योजना पहले की तरह ही लागू रहेगी. बता दें कि शिक्षा वित्त निगम सीधे छात्रों को लोन बांटेगा. अब छात्रों को लोन के लिए बैंकों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे

इस मौके पर सीएम नीतीश ने कहा कि राज्य शिक्षा वित्त निगम की स्थापना से राज्य के छात्रों को लाभ मिलेगा. साथ ही स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ स्टूडेंट्स को अब आसानी से मिल सकेगा. अब शिक्षा लोन बैंक नहीं, राज्य सरकार देगी.

sushil-kumar-modi, सुशील मोदी, डिप्टी सीएम, बिहार (फाइल फोटो)
सुशील मोदी, डिप्टी सीएम, बिहार (फाइल फोटो)

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि राज्य में 1.25 करोड़ छात्रों को साइकिल योजना का लाभ मिला है. साथ ही प्रतिदिन सवा करोड़ बच्चों को मुफ्त भोजन भी मिल रहा है. उन्होंने कहा कि छात्रों को कर्ज देने वाला गोवा के बाद बिहार पहला राज्य बन गया है.

यह भी पढ़ें- बिहार के छात्रों के लिए सीएम नीतीश ने की है बड़ी घोषणा, जान कर गदगद हो जाएंगे स्टूडेंट्स

वहीं, शिक्षामंत्री कृष्णनंदन कृष्णनंदन वर्मा ने कहा कि ‘आर्थिक हल युवाओं को बल’सरकार की महत्वाकांक्षी योजना’है. शिक्षा मंत्री ने कहा कि बैंकों के रवैये के चलते छात्रों को लोन नहीं मिल पा रहा था. शिक्षा वित्त निगम की स्थापना से अब कठिनाई नहीं होगी. इस मौके पर मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने शिक्षा वित्त निगम के उद्देश्य की जानकारी दी और कहा कि अब पैसे के अभाव में कोई छात्र उच्च शिक्षा से वंचित नहीं रहेगा.

देखिए वीडियो में – सीएम नीतीश कुमार ने बिहारी स्टूडेंट्स को खुश कर दिया है….

इससे पहले, बिहार विधानसभा में नीतीश कुमार ने साफ किया था कि स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड लोन को अगर माफ़ भी करना पड़े तो कर देंगे. इसमें बैंक का कोई नियम लागू नहीं होगा और बैंक की कोई भूमिका भी नहीं होगी. इसका ध्येय यह है कि बिहार के विद्यार्थियों का ग्रास एन्रॉलमेंट रेशियो बढ़े. वर्तमान में यह 13.9 प्रतिशत है इसे बढ़ाकर कम से कम 30 प्रतिशत तक ले जाने का लक्ष्य है.

देखें वीडियो : पटना हाई कोर्ट ने दिव्यांशु भारद्वाज को ही माना पटना यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स यूनियन का प्रेसीडेंट, फिर से जश्न….

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*