सीएम नीतीश ने दोहराया शराबबंदी का कमिटमेंट, कहा- लापरवाह थानेदार-पुलिसवाले नपेंगे

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्कः बिहार में पूर्ण शराबबंदी को लेकर एक बार फिर से सीएम नीतीश कुमार ने सख्त निर्देश दिए हैं. सीएम नीतीश कुमार ने संवाद में मद्य निषेध, उत्पाद एवं निबंधन विभाग की समीक्षा की. समीक्षा बैठक में नीतीश कुमार ने एक बार फिर से शराबबंदी को लेकर अपने कमिटमेंट को दोहराते हुए लापरवाही बरतने वाले थानेदारों पर कार्रवाई की चेतावनी दी. नीतीश कुमार ने कहा कि शराबबंदी के कारण बिहार में सामाजिक परिवर्तन आया है और महिलाओं-बच्चों को काफी राहत मिली है. सभी अधिकारी और कर्मी एक्शन और डेडिकेशन के साथ इस काम में लगें तभी शराबबंदी अभियान को कामयाबी मिलेगी.

नीतीश कुमार ने कहा कि शराबबंदी के प्रति हमलोगों का कमिटमेंट है. उन्होंने बैठक के दौरान कहा कि शराबबंदी को लेकर सभी अधिकारियों-कर्मियों के साथ-साथ लोगों से संकल्प कराकर शपथ पत्र लिया जाए और सभी थानों से यह लिखित में लिया जाए कि उनके इलाके में शराब का अवैध कारोबार नहीं हो रहा है. इसके बाद जिन इलाकों से भी शराब की अवैध तस्करी का खुलासा होगा उस इलाके के थानेदार और पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की जाएगी और 10 साल तक थाने में पोस्टिंग नहीं दी जाएगी.

उन्होंने कहा कि केवल रूटीन कार्यकलाप से कामयाबी नहीं मिलेगी बल्कि इसके लिए गहराई में जाकर धंधेबाजों पर कार्रवाई करनी होगी. सीएम ने इस काम में आजी प्रोहिबिशन के साथ-साथ इंटेलिजेंस, एक्साइज, स्पेशल ब्रांच के साथ-साथ पुलिस को भी लगाने का निर्देश दिया ताकि जल्द से जल्द धंधेबाजों की पहचान कर उनके खिलाफ कार्रवाई की जा सके.

नीतीश कुमार ने समीक्षा बैठक के दौरान शराब के अवैध कारोबार में संलिप्त धंधेबाजों के खिलाफ की गई कार्रवाई, गिरफ्तारी, जिलावार शराब की जब्ती, विभागीय उपलब्धियां, प्रोहिबिशन सेंटर की कार्यशैली, चेकपोस्ट पर सक्रियता, मॉनिटरिंग मैकेनिज्म आदि की विस्तार से जानकारी ली.

साथ ही उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि जो लोग अवैध शराब के कारोबार में पकड़े जा रहे हैं, वे पहले किस धंधे में लगे थे या शराबबंदी से पहले जो शराब के कारोबार में लगे थे, वे अब शराबबंदी के बाद कौन-सा व्यवसाय कर रहे हैं, इन तमाम चीजों को भी ध्यान में रखते हुए अनुसंधान कर कार्रवाई की जानी चाहिए. उन्होंने कहा कि जब तक शराब माफिया गिरोह और धंधेबाज पकड़े नहीं जाएंगे तब तक शराब के अवैध कारोबार पर पूर्णत पाबंदी नहीं लगाई जा सकती है.

बैठक में ऊर्जा, उत्पाद एवं निबंधन मंत्री विजेंद्र प्रसाद यादव, मुख्य सचिव दीपक कुमार, अपर मुख्य सचिव गृह आमिर सुबहानी, डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार और सचिव मनीष कुमार वर्मा और अनुपम कुमार, मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी गोपाल सिंह, पुलिस महानिदेशक सीआइडी विनय कुमार, मुख्यमंत्री सचिवालय के अपर सचिव चंद्रशेखर सिंह सहित उत्पाद एवं पुलिस विभाग के वरीय अधिकारी भी मौजूद थे.

About Md. Saheb Ali 4766 Articles
Md. Saheb Ali

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*