‘बिहार के लोगों में राजनीति भरी है, अब सामाजिक कुरीतियों पर भी बात हो’

NITISH1

पटना (नियाज़ आलम) : केवल महापुरुषों को याद करने से कुछ नहीं होगा, उनके जीवन से प्रेरणा भी लेना ज़रूरी है. जिस तरह से शराब बंदी का लेकर विपक्ष समेत सभी लोग एकजुट हुए, उसी तरह दहेज प्रथा और बाल विवाह के विरुद्ध भी गोलबंद होना पड़ेगा तभी ऐसी सामाजिक कुरूतियों से छुटकारा मिलेगा. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वीर कुंवर सिंह शहादत दिवस के अवसर पर पटना के श्रीकृष्ण मेमोरिअल हॉल में आयोजित समारोह के उद्घाटन के अवसर पर ये बातें कही.

NITISH1

मुख्यमंत्री ने कहा कि इतिहास में बिहार के लोगों की बड़ी भूमिका है. ये वही पाटलिपुत्र है जहां से वर्तमान के भारत से भी बड़े भूभाग पर शासन होता था. बिहार के लोगों में आज भी राजनीति भरी है. मजदूर हो या किसान, कोई भी राजनीति पर बात कर सकता है. नीतीश ने कहा कि अगर सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ समाज सुधार का कोई बड़ा अभियान शुरू होगा तो इतिहास में बिहार की छवि और बेहतर होगी.

समारोह को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि बाल विवाह और दहेज प्रथा से बुरी बात और क्या होगी. उन्होंने कहा कि शराबबंदी की तरह इन सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ भी अभियान शुरू किया जायेगा. शराब बंदी के समय भी पीने वाले मुझसे नाराज़ हो गए थे लेकिन बाद में उन लोगों को भी शराब बंदी का फैसला सही लगने लगा.

NITISH

बाल विवाह को राज्य की भावी पीढ़ी के लिए बड़ा खतरा बताते हुए नीतीश ने कहा कि बिहार के लोगों की शारीरिक संरचना बेहतर नही हो रही है इसका एक कारण बाल विवाह भी है. इससे कम उम्र में मां बनने के कारण बच्चे और मां दोनो की सेहत पर बुरा प्रभाव पड़ता है. मुख्यमंत्री ने कहा कि सामाजिक समरसता और एकदूसरे के लिए मन में प्रेम और सम्मान होना चाहिए. यही वीर कुंवर सिंह और उन जैसे महापुरुषों को सच्ची श्रद्धांजलि होगी.

समारोह में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अलावा मुख्य अतिथि के तौर पर सांसद वशिष्ठ नारायण सिंह, बिहार सरकार के मंत्री जय कुमार सिंह, विधायक श्याम रजक, पूर्व मंत्री गौतम सिंह, एमएलसी संजय गांधी, राधाचरण सेठ, नीरज कुमार आदि मौजूद रहे.

यह भी पढ़ें :
…फिर नीतीश ने कहा, फिल्म अभी चलने दो
नीति आयोग की बैठक में PM से बोले नीतीश – बिहार आगे बढ़ रहा है, हमारा भी ख्याल रखें