बगहा में अधिकारियों की सीएम नीतीश ने लगा दी क्लास, सड़क निर्माण में वन विभाग के गतिरोध पर जतायी नाराजगी

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वन विभाग के अधिकारियों की जमकर क्लास लगा दी. ऑन-स्पॉट विभाग के अधिकारियों की क्लास लगाते हुए कहा कि अगर इस सड़क का निर्माण हो जाता है तो क्षेत्र का विकास होगा. यहां पर बिहार समेत देश विदेश से लोग विजिट करने आएंगे. यहां के प्राकृतिक वातावरण के बारे में युवा जानकारी ले पाएंगे. लेकिन बिना सड़क यह सब कैसे संभव है.

दरअसल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार वाल्मिकीनगर में पहुंचे थे. मदनपुर-वाल्मिकीनगर सड़क की दूर्दशा देख अचानक सीएम नीतीश अधिकारियों पर भड़क उठे. गाड़ी से उतर उन्होंने पैदल कुछ चलते हुए अधूरे सड़क का मुआयना किया. उन्होंने वन विभाग के अधिकारियों से कहा कि जल्द इस रास्ते के विवाद को सुलझाएं. रास्ता का विवाद खत्म होना चाहिए. वाल्मिकीनगर में इको टूरिज्म की असीम संभावनाएं है. लेकिन रास्ता नहीं होने के कारण यहां पर लोगों को आने जाने में काफी दिक्कत होती है.



सीएम नीतीश ने यह भी कहा कि बिहार समेत पूरे के देश युवा यहां आएंगे तो उन्हें प्रकृति को बड़े ही नजदीक से समझने का अवसर प्रदान होगा. उन्हें प्रकृति के प्रति जागरूकता पैदा होगी. इसके लिए आने जाने के लिए रास्ता जरूरी है. सड़क का जायजा लेते हुए सीएम नीतीश ने वन विभाग के गतिरोध पर नाराजगी प्रकट करते हुए जल्द क्लीयरेंस देने की बात कहीं.

बता दें कि पूर्व में जब सीएम नीतीश वाल्मीकिनगर के एक दिवसीय दौरे पर आए थे तो उनकी वापसी सड़क मार्ग से हुई थी. तब रामपुर से मदनपुर के बीच सड़क पूरी तरह से टूटी हुई है. संबंधित विभाग के अधिकारियों से पूछताछ के दौरान जानकारी मिली थी कि वन विभाग के द्वारा इस सड़क मार्ग के निर्माण पर रोक लगाई गई है. उसके बाद एक टीम को भेज सड़क की वास्तविक जानकारी मांगी थी.

टीम की जांच रिपोर्ट मिलने के बाद उन्होंने सड़क की मरम्मत का आदेश दिया था. जब संबंधित विभाग के द्वारा उसे बनाने के लिए निविदा निकाला गया और उसके निर्माण कार्य में तेजी आई तो वन विभाग के द्वारा यह कहकर रोक लगा दिया गई कि पुराने नक्शे के अनुसार निर्माण कार्य नहीं हो रहा है.