बाढ़ को लेकर विधानसभा में बोले सीएम, कहा- तेजी से हो रहा बचाव कार्य

सीएम नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार में बाढ़ का कहर लगातार जारी है. बिहार के कई जिलों में बाढ़ के कहर से जान और माल की हानि लगातार हो रही है. वहीं इस मामले को लेकर बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि सरकार पूरी तरह से बाढ़ पीड़ितों के साथ है. उन्होंने कहा कि बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहत-बचाव का काम तेजी से किया जा रहा है. मंगलवार को बिहार विधानसभा में बाढ़ पर सरकार का पक्ष रखते हुए सीएम ने कहा कि इस आपदा से अबतक सूबे में 25 लोगों की मौत हुई है. उन्होंने कहा कि बाढ़ ऐसी प्राकृतिक आपदा है जिस पर किसी का नियंत्रण नहीं है.

फिर से करूंगा सर्वेक्षण

विधानसभा में बोलते हुए सीएम नीतीश ने कहा कि मैं आज पुनः बाढ़ प्रभावित जिलों का सर्वेक्षण करूंगा. प्रदेश के 12 जिलों में बाढ़ की आफत है और अब तक 25 लोगों की जान जा चुकी है. 199 शिविरों में 1.16 लाख से अधिक लोग शरण लिए हैं जबिक 78 प्रखंडों के 555 पंचायत के 25.71 लाख लोग इस बाढ़ से प्रभावित हैं.

सूखा भी बनेगा चुनौती

सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि ऐसी प्राकृतिक आपदाओं और बाढ़ की समस्या पर जल्द से जल्द योजना बनाकर कार्रवाई होगी. मैं सभी लोगों को आश्वस्त करता हूं कि राहत में कोई कमी नहीं होगी. ये फ्लैश फ्लड है और बिहार में काफी दिनों के बाद समय से पहले इतनी वर्षा हुई है. ये प्रभाव नेपाल के कारण हुआ है. सीएम ने कहा कि समय से पहले बाढ़ आई है और इसके बाद सूखा भी हमारे लिए चुनौती बनेगा.

सभी के साथ है संवेदना

नीतीश कुमार ने कहा कि हमारी संवेदना सभी बाढ़ पीड़ितों के साथ है. मैंने सदन में सरकार के कामों की जानकारी दी है. उन्होंने आगे कहा कि जो लोग भी बाढ़ प्रभावित इलाकों में फंसे हैं उनको फसल बीमा समेत हर तरह की मदद दी जाएगी. संबधित जिलों के अधिकारियों को युद्ध स्तर पर काम करने का निर्देश दिया गया है और वो पूरे घटनाक्रम पर पल-पल नजर बनाए हुए हैं.

बिहार में जारी है बाढ़ का कहर, शिवहर में पांच बच्चों की मौत

सीएम ने कहा कि फिलहाल सूबे में ऐसी स्थिति है जहां हम सभी को मिलकर काम करने की जरूरत है. हमलोग सजग हैं और सतर्क हैं. बता दें कि बिहार में आई बाढ़ का सीएम नीतीश ने दो दिन हवाई सर्वे किया है. साथ ही अधिकारियों को राहत काम में तेजी लाने का निर्देश भी दिया है.

सीतामढ़ी : बाढ़ में डूबे एक दर्जन लोग, लोगों की नहीं सुन रहे सीओ-बीडीओ

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*