‘शराबबंदी कानून तोड़ने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करें’ समीक्षा बैठक में सीएम ने अधिकारियों को दिए निर्देश

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : पटना के मुख्य सचिवालय में सीएम नीतीश कुमार के बैठने का सिलसिला जारी है. आज भी मुख्यमंत्री ने कई विभाग की योजनाओं की समीक्षा की. हर खेत तक सिंचाई के लिए पानी और बिहार में शराबबंदी योजना को लेकर विभागीय कार्रवाई की सीएम नीतीश ने अधिकारियों से पूरी जानकारी ली. शराबबंदी को लेकर अधिकारियों को उन्होंने सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया.

सीएम नीतीश ने अधिकारियों को साफ शब्दों में कहा कि शराब तस्करों के सप्लाई चैन को तोड़ना होगा. कानून तोड़ने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई  करनी होगी. सिर्फ धर पकड़ से काम नहीं चलेगा, बल्कि शराब तस्करों के खिलाफ आर्थिक तौर पर कार्रवाई करनी होगी. तब जाकर शराबबंदी सफल होगी.



समीक्षा बैठक के बाद सीएम नीतीश ने कैबिनेट विस्तार में देरी के पीछे के कारणों को बताया. उन्होंने साफ कर दिया कि अभी तक बीजेपी वालों से इस विषय पर कोई बात नहीं हुई है. जब तक पूरी बात नहीं हो जाती तब तक कैसे मंत्रिमंडल का विस्तार हो सकता है. मैं तो हमेशा पहले ही मंत्रिमंडल का विस्तार कर दिया करता था.

उन्होंने यह भी कहा कि कैबिनेट विस्तार में इतनी देरी नहीं होती थी. जब तक सब लोगों की राय नहीं आ जाती तब तक यह संभव नहीं है. बीजेपी नेता भूपेन्द्र यादव से मुलाकात को सहज और औपचारिक बताते हुए सीएम नीतीश ने कहा कि इन सब मुद्दों पर चर्चा नहीं हुई. सिर्फ सहज मुलाकात हुई . आज मैंने अखबार में देखा तो मुझे आश्चर्य हुआ.

वहीं सुशील मोदी से अपने रिश्ते को स्पष्ट करते हुए कहा कि उनके साथ मेरा रिश्ता काफी पुराना है. रही बात उनको बिहार बुलाने की तो यह निर्णय बीजेपी का है. बता दें कि वृहस्पतिवार को बिहार बीजेपी प्रभारी भूपेन्द्र यादव के साथ डॉक्टर संजय जायसवाल और दोनों डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी ने मुलाकात की थी. एक घंटे तक सीएम आवास में इन नेताओं की बातें हुई. मुलाकात बाद डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद ने यह बयान दिया कि बहुत जल्द बिहार में कैबिनेट का विस्तार हो जाएगा. नीतीश कुमार के नेतृत्व में जल्द ही इसपर निर्णय लिया जाएगा.