चुनावी तैयारियों को लेकर पटना डिवीजन के सभी डीएम-एसपी के साथ कमिश्नर ने की मीटिंग

लाइव सिटीज, पटना/अमित जायसवाल : विधान सभा चुनाव को लेकर तैयारियां जोर-शोर से चल रही है. प्राशसनिक स्तर पर हर एक काम को काफी ध्यान देकर निपटाया जा रहा है. ऐसा इसलिए कि चुनाव आयोग किसी भी दिन आदर्श आचार संहिता की घोषणा कर सकता है. जिसके बाद आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन हो, इस पर पटना डिवीजन के तहत आने वाले हर जिलों के डीएम और एसपी को विशेष ध्यान देना होगा.

दरअसल, इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए पटना के डिवीजनल कमिश्नर संजय कुमार अग्रवाल और रेंज आईजी संजय सिंह ने एक रिव्यू मीटिंग वीडियो कांफ्रेंसिंग केे जरिए की. इस मीटिंग में शाहबाद रेंज डीआईजी पी कनन शामिल थे. इस रिव्यू मीटिंग में डिवीजनल कमिश्नर ने विधान सभा चुनाव की तैयारियों से जुड़े हर प्वाइंट बात की. समय रहत तैयारियों को पूरा करने का निर्देश दिया.



कमिश्नर ने एक बात स्पष्ट किया कि इस बार के चुनाव में मतदान केंद्रों की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई है. बढ़े हुए मतदान केंद्रों के अनुसार ही कर्मियों की संख्या, गाड़ियों की संख्या, ईवीएम वीवीपैट व पुलिस फोर्स की संख्या में भी आवश्यकता के तहत बढ़ोत्तरी की जाएगी. इसकी पूर्ती के लिए जिलों के डीएम और एसपी को निर्देश दिया गया है. चुनाव आयोग के निर्देशों के तहत कमिश्नर ने मतदान और मतगणना कर्मियों के जरूरी ट्रेनिंग के लिए व्यवस्था कराने के लिए भी कहा गया है. इसके साथ ही संवेदनशील बूथ, अतिसंवेदनशील बूथ, वल्नरेबुल/क्रिटिकल बूथ को चिन्हित करने व उसकी लिस्ट तैयार करने को कहा गया है. ताकि वैसे बूथों पर सिक्योरिटी के पुख्ता इंतजाम किए जा सकेंगे. कमिश्नर ने व्यय कोषांग का गठन करने का भी निर्देश दिया है.

स्वतंत्र, निष्पक्ष व भयरहित मतदान सुनिश्चित कराने के लिए सभी डीएम और एसपी को अशांति फैलाने वाले तत्वों की पहचान करने, उनके खिलाफ आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश भी दिया गया है. इस क्रम में डीएम एसपी को सीसीए/107 की निरोधात्मक कार्रवाई, आर्म्स का वेरिफिकेशन एवं आर्म्स धारक का वेरिफिकेशन, शराब के विनष्टीकरण का थानावार रिव्यू करने का आदेश दिया गया.