कांग्रेस का मिशन गठबंधन, दूसरी पार्टियों को साथ लाने को पार्टी बनाएगी एक अलग कमेटी

rahul-gandhi-
rahul-gandhi-

लाइव सिटीज डेस्क : मिशन 2019 की तैयारी में कांग्रेस पूरे दमखम के साथ जुट गई है. आज हुई CWC की बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कई बड़ी रणनीति तैयार की है. जिसमें सबसे बड़ा मुद्दा रहा- पूरे देश में विपक्ष को एकजुट करना. कांग्रेस की नवगठित कार्यसमिति की विस्तारित बैठक के बाद जब पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी से भी 2019 लोकसभा चुनाव के मद्देनजर गठबंधन को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने भी इसे लेकर हामी भरी. समाचार एजेंसी एएनआई के सवाल के जवाब में राहुल गांधी का सीधा जवाब था- हम पार्टी में एक कमेटी का गठन कर रहे हैं जो गठबंधन करने का काम करेगी.

CWC की बैठक के बाद पार्टी प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि पार्टी ने राज्य दर राज्य जरूरत के हिसाब से गठबंधन करने को लेकर फैसले का अधिकार सीडब्ल्यूसी ने राहुल गांधी को दिया है. इसके साथ ही सुरजेवाला ने साफ कहा कि जब भी घटक दलों से बातचीत होगी, कुछ लेना-देना होगा. आपको बता दें कि CWC की बैठक पी चिंदबरम ने कहा है कि पार्टी को बड़ा गठबंधन करना चाहिए. इसी तरह सोनिया गांधी ने समान विचार वालों को एक साथ आने का आह्वान किया.

कांग्रेस ने फूंका मिशन 2019 का बिगुल, सहयोगी संग 300 सीटों की जीत का बनाया टार्गेट

चिंदबरम ने प्रेजेंटेशन देकर कहा कि पार्टी 12 राज्यों में अपने दम पर 150 सीटें जीत सकती है और अगर गठबंधन के साथ चुनाव में जाती है तो यूपीए 300 सीटें जीत सकता है. चिदम्बरम के अलावा कई और नेताओं ने भी गठबंधन की अहमियत पर जोर दिया लेकिन कहा कि उसके केंद्र में कांग्रेस हो और चेहरा राहुल गांधी हों.

देखें वीडियोः #राहुलगांधी के समर्थन में उतरलन #रघुवंशप्रसादसिंह … कह देलन बड़ बात …

सचिन पायलट, शक्ति सिंह गोहिल, रमेश चेन्निथला जैसे कुछ नेताओं ने बैठक में कहा कि हमें रणनीतिक गठबंधन बनाना चाहिए. साथ ही कोशिश करनी चाहिए कि गठबंधन के केंद्र में कांग्रेस हो, हम सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभरें और हमारे नेता राहुल गांधी गठबंधन का चेहरा हों.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*