कोरोना जांच में तेजी से संक्रमण दर में आयी कमी, सूचना सचिव अनुपम कुमार ने दी जानकारी

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं विभिन्न नदियों के जलस्तर को लेकर सरकार द्वारा किये जा रहे कार्यों की जानकारी सचिव सूचना एवं जन सम्पर्क अनुपम कुमार, सचिव स्वास्थ्य लोकेश कुमार सिंह, अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस मुख्यालय जितेंद्र कुमार, सचिव जल संसाधन संजीव हंस एवं अपर सचिव आपदा प्रबंधन रामचंद्र डू ने दी.

सचिव, सूचना एवं जन-सम्पर्क अनुपम कुमार ने बताया कि बाढ़ एवं कोविड-19 की वर्तमान स्थिति को लेकर सरकार द्वारा तत्परता से कार्रवाई की जा रही है. उन्होंने बताया कि कोरोना जांच भी तेजी से करायी जा रही है. कोरोना की जांच में तेजी आने से संक्रमण की दर घटी है. बड़ी संख्या में लोग स्वस्थ हो रहे हैं, जिससे रिकवरी दर में लगातार वृद्धि हो रही है. बिहार का रिकवरी रेट आज की तिथि में 73.48 प्रतिशत है. उन्होंने बताया कि रोजगार सृजन पर सरकार का पूरा ध्यान है और लॉकडाउन पीरियड से लेकर अभी तक 05 लाख 58 हजार 593 योजनाओं के अंतर्गत 13 करोड़ 47 लाख से अधिक मानव दिवसों का सृजन किया जा चुका है.



सचिव स्वास्थ्य लोकेश कुमार सिंह ने बताया कि कोरोना संक्रमण से पिछले 24 घंटे में 4,034 लोग स्वस्थ हुए हैं और अब तक 80,740 लोग कोविड-19 संक्रमण से स्वस्थ हो चुके हैं. विगत 24 घंटे में कोविड-19 के 3,257 नये मामले सामने आये हैं. वर्तमान में बिहार में कोविड-19 के 28,576 एक्टिव मरीज हैं. उन्होंने बताया कि 17.08.2020 को 1,12,781 सैंपल्स की जांच की गई है और अब तक की गयी कुल जांच की संख्या 18,99,970 है.

अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस मुख्यालय जितेन्द्र कुमार ने बताया कि सरकार द्वारा 01 अगस्त से लागू अनलॉक-3 के तहत जारी गाइडलाइन्स का अनुपालन कराया जा रहा है. पिछले 24 घंटे में 01 कांड दर्ज किया गया है और 18 व्यक्तियों की गिरफ्तारी हुई है. इस दौरान 756 वाहन जब्त किये गये हैं और 21 लाख 27 हजार 450 रूपये की राशि जुर्माने के रुप में वसूल की गई है. इस प्रकार 1 अगस्त से अब तक 54 कांड दर्ज किये गए हैं और 95 व्यक्तियों की गिरफ्तारी हुई है. कुल 12,231 वाहन जब्त किए गए हैं और 03 करोड़ 12 लाख 98 हजार 770 रुपए की राशि जुर्माने के रूप में वसूल की गयी है.

उन्होंने बताया कि सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं पहनने वाले लोगों पर भी लगातार कार्रवाई की जा रही है. पिछले 24 घंटे में मास्क नहीं पहनने वाले 5,496 व्यक्तियों से 02 लाख 74 हजार 800 रूपये की राशि जुर्माने के रूप में वसूल की गयी है. इस प्रकार 01 अगस्त से अब तक मास्क नहीं पहनने वाले 92,713 व्यक्तियों से 46 लाख 35 हजार 650 रूपये की जुर्माना राशि वसूल की गयी है. कोविड-19 से निपटने के लिये उठाये जा रहे कदमों और नए दिशा निर्देशों का पालन करने में अवरोध पैदा करने वालों के खिलाफ सख्ती से कदम उठाये जा रहे हैं.

सचिव जल संसाधन संजीव हंस ने बताया कि गंडक नदी में बाल्मीकिनगर बराज पर आज 12 बजे दिन में 1,58,500 क्यूसेक जलश्राव प्रवाहित हुआ है और इसकी प्रवृति स्थिर है. गंगा नदी का जलस्तर गांधी घाट में सुबह 6 बजे 48.68 मीटर दर्ज किया गया, जो खतरे के निशान से 08 सेंटीमीटर ऊपर है. विगत 24 घंटे में गंगा नदी के जलस्तर में बक्सर में 01 सेंटीमीटर की कमी हुई है तथा दीघा, गांधी घाट, हाथीदह, मुंगेर, भागलपुर एवं कहलगाँव में जलस्तर में वृद्धि हुई है. कोशी नदी का जलस्तर बलतारा अवस्थित गेज स्थल के पास 35.60 मीटर दर्ज किया गया, जो खतरे के निशान 33.85 मीटर से 1.75 मीटर ऊपर है. सोन नदी में आज 12 बजे दिन में 57,780 क्यूसेक जलश्राव प्रवाहित हुआ है और इसकी प्रवृत्ति घटने की है.

बागमती नदी का जलस्तर कटौझा, बेनीबाद एवं हायाघाट गेज स्थलों पर खतरे के निशान से ऊपर है, जबकि ढेंग, सोनाखान, डूब्बाधार तथा कनसार/चंदौली गेज स्थल पर जलस्तर खतरे के निशान से नीचे है. कमला बलान नदी का जलस्तर जयनगर वीयर के डाउनस्ट्रीम एवं झंझारपुर रेल पुल के पास खतरे के निशान से क्रमशः 0.45 मीटर एवं 0.30 मीटर नीचे है. महानंदा नदी का जलस्तर तैयबपुर एवं ढेंगराघाट गेज स्थल पर खतरे के निशान से नीचे है. अधवारा नदी का जलस्तर सोनवर्षा, सुंदरपुर एवं पुपरी गेज स्थल पर खतरे के निशान से नीचे है. बूढ़ी गंडक नदी का जलस्तर समस्तीपुर रेल पुल, रोसरा रेल पुल एवं खगड़िया में खतरे के निशान से ऊपर है. घाघरा नदी का जलस्तर दरौली एवं गंगपुर सिसवन में खतरे के निशान से क्रमशः 0.54 मीटर एवं 0.52 मीटर ऊपर है.

मुख्य अभियंता गोपालगंज परिक्षेत्राधीन सारण तटबंध सारण, भैसही पुरैना छरकी, बंधौली शीतलपुर फैजुल्लाहपुर जमींदारी बांध एवं बैकुंठपुर रिटायर्ड लाईन तथा मुख्य अभियंता, मुजफ्फरपुर परिक्षेत्राधीन चंपारण तटबंध के क्षतिग्रस्त भाग को छोड़कर शेष राज्य में विभिन्न नदियों पर अवस्थित तटबंध सुरक्षित हैं. जल संसाधन विभाग द्वारा सतत् निगरानी एवं चैकसी बरती जा रही है.

अपर सचिव आपदा प्रबंधन रामचंद्र डू ने बताया कि बिहार की विभिन्न नदियों के बढ़े जलस्तर को देखते हुए आपदा प्रबंधन विभाग पूरी तरह से सतर्क है. नदियों के बढ़े जलस्तर से बिहार के 16 जिलों के कुल 130 प्रखंडों की 1,312 पंचायतें प्रभावित हुई हैं, जहाँ आवश्यकतानुसार राहत शिविर चलाए जा रहे हैं. खगड़िया में 01 और समस्तीपुर में 11 राहत शिविर चलाए जा रहे हैं. इन सभी 12 राहत शिविरों में कुल 13,198 लोग आवासित हैं. 540 कम्युनिटी किचेन चलाए जा रहे हैं, जिनमें प्रतिदिन 04,28,417 लोग भोजन कर रहे हैं. सभी बाढ़ प्रभावित जिलों में एन0डी0आर0एफ0 और एस0डी0आर0एफ0 की टीमें राहत एवं बचाव का कार्य कर रही हैं और अब तक प्रभावित इलाकों से एन0डी0आर0एफ0, एस0डी0आर0एफ0 और बोट्स के माध्यम से 05 लाख 51 हजार 483 लोगों को निष्क्रमित किया गया है. बाढ़ प्रभावित 8,44,848 परिवारो को जी0आर0 की राशि 06 हजार रूपये की दर से कुल 506.91 करोड़ रूपये उनके बैंक खाते में भेजी जा चुकी है. ऐसे परिवारों को एस0एम0एस0 के माध्यम से सूचित भी किया गया है. आपदा प्रबंधन विभाग संपूर्ण स्थिति पर लगातार निगरानी रख रहा है.