कोरोना का बहाना, मकसद आपकी बैंक डिटेल्स चुराना!

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : कोरोना वायरस पर बढ़ रहे ऑनलाइन स्कैम से बचने के लिए जांच एजेंसी ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन ने देश के सभी राज्यों केंद्र शासित प्रदेशों और केंद्रीय एजेंसियों को अलर्ट जारी किया है. लोगों को कोरोना से जुड़े अपडेट जानने के लिए डाउनलोडेड ऐप्स के बारे में आगाह किया है. जिनके जरिए यूजर्स को फर्जी लिंक भेजकर हैकर्स बैंकिंग स्कैम और क्रेडिट कार्ड की डिटेल्स चुरा रहे हैं.


सीबीआई के मुताबिक सरबेरस नाम के सॉफ्टवेयर के जरिए हैकिंग की जा रही है. इस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करके हैकर्स यूजर्स के स्मार्टफोन से डेटा चुरा रहे हैं. साथ ही ये सॉफ्टवेयर बैकिंग ट्रोजन के जरिए कोरोना के बारें में जानकारी बताने जैसे लिंक डाउनलोड करने के लिए यूजर्स को एसएमएस भेजते है. उस लिंक पर क्लिक करते ही सॉफ्टवेयर इंस्टॉल हो जाता है और उसके बाद हैकर्स यूजर्स का डेटा हैक कर लेते हैं.


लॉकडाउन की वजह से इन दिनों यूजर्स ऑनलाइन प्लेटफॉर्म का ज्यादा इस्तेमाल कर रहे है. एक्सपर्ट के मुताबिक इस समय सबसे ज्यादा साइबर क्राइम बढ़ गया है. आईटी और साइबर एक्सपर्ट्स का मानना है कि इस स्थिति के लिए यूजर्स को हमेशा अलर्ट रहना पड़ेगा. भारत ही नहीं दुनिया के कई देशों में इस तरह की शिकायतें मिल रही हैं.