बालू खनन आज से शुरू हो गया है बिहार में, हटा दी गई है तीन महीने से लगी रोक

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्कः बिहार में तीन महीने से बालू खनन पर लगी रोक आज से हट जाएगी. खनन विभाग ने खनन शुरु कराने के लिए अपनी वेबसाइट पर अधिसूचना जारी कर दी है. बता दें, एनजीटी ने 1 जुलाई से 3 महीने के लिए नदियों में खनन पर रोक लगा दिया था. जो अब समाप्त हो गया है. बिहार के 500 से अधिक घाटों पर आज से खनन शुरू हो जाएगा, बालू खनन और व्यवसाय के लिए 1000 से अधिक लोगों को लाइसेंस दिए गए हैं.

तीन महीने से बंद था बालू खनन

गया में 90 से अधिक और पटना में 83 लोगों को लाइसेंस मिला है. खनन विभाग ने अपनी वेबसाइट पर जारी अधिसूचना में ट्रक से बालू भेजने वाले सभी बालू घाटों को धर्म कांटा से जोड़ने का निर्देश दिया है. जो आज से शुरू हो जाएगा. 3 महीने से बालू खनन नहीं होने से बड़ी संख्या में मजदूरों को रोजगार नहीं मिल रहा था यहां रोजगार मिलने में परेशानी हो रही थी. खासकर बालू खनन से जिनकी जीविका चलती थी, उनके लिए अब राहत की बात होगी. साथ ही निर्माण क्षेत्र में कार्यों को तेज गति मिलेगी.

सभी घाटों पर वेब कैमरे लगाए जाएंगे

राज्य सरकार के निर्देश पर बालू घाटों पर धर्मकांटा लगाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है. अब तक हर बालूधारित जिले के प्रमुख घाटों पर धर्मकांटा लगाए गए हैं. यहां से अन्य घाटों को टैग किया जा रहा है. धर्मकांटा पर सिर्फ ट्रकों के माध्यम से बालू की खरीद-बिक्री होगी. धर्मकांटा लगे सभी घाटों पर जल्द ही वेब कैमरे लगाए जाएंगे.

इससे वहां आने वाले ट्रकों के नंबर के आधार पर ई- चालान जेनरेट होगा. सीसीटीवी कैमरों से मुख्यालय स्तर से होने वाले सारे कारोबार पर नजर रखी जाएगी. सहायक निदेशक संजय कुमार के मुताबिक ट्रकों से बालू भेजने वाले सभी बालू घाटों को धर्मकांटा से जोड़कर इंटीग्रेड कर दिया जाएगा, ताकि ओवरलोडिंग की समस्या से निजात पायी जा सकेगी.