‘दो गज दूरी’ का मंत्र: बिहार के इस गांव से दिल्ली और मुंबई वाले सीख सकते हैं सोशल डिस्टेंसिंग

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार के नवीगंज गांव के लोगों ने कोरोना वायरस से लड़ने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी के ‘दो गज दूरी’ वाले मंत्र को न सिर्फ अच्छी तरह अपना लिया है. बल्कि आपसी सहयोग की एक मिसाल कायम कर सोशल मीडिया पर लोगों को अपना मुरीद भी बना लिया है. इसकी सोशल डिस्टेंसिंग से महानगरों के लोग भी कुछ सीख सकते हैं.


देश में इस समय कोरोना वायरस को लेकर सोशल डिस्टेंसिंग पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है. इस महामारी से लड़ने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी अपील कर रहे हैं कि दो गज दूरी बनाकर रखी जाए. बिहार के नवीगंज गांव के लोगों ने इस मंत्र को अपना लिया.



गांव में यह संभव हुआ दिल्ली के निजी अस्पताल के एक डॉक्टर प्रवीण कुमार प्रसाद की वजह से. वो फरवरी महीने में अपने गांव गए थे. कोरोना को देखते हुए उन्होंने गांव में ही सेवा करने का फैसला किया. इस दौरान न सिर्फ ग्रामीणों को जागरूक किया, बल्कि उन्हें खाने-पीने का सहयोग दिया.

इस दौरान गांव वालों को सोशल डिस्टेंसिंग का अच्छी तरह से पालन करना सिखाया. करीब 600 लोगों को 10-10 किलो आटा, 5-5 किलो चावल, 5-5 किलो आलू, 2-2 किलो प्याज, डेढ़-डेढ़ किलो दाल, हल्दी के पैकेट के साथ आधा-आधा लीटर सरसों का तेल दिया. इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग पर खास ध्यान दिया गया.


बिहार के सिवान जिले में स्थित पकड़ी पंचायत का नवीगंज गांव की यह तस्वीर है. बिहार में भी कोरोना को लेकर विशेष सतर्कता बरतने की इस तस्वीर की खूब चर्चा हो रही है. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाने में डॉ. प्रसाद के साथ श्री वर्मा प्रसाद, बादशाह प्रसाद, अमित कुमार, बीरबल प्रसाद और गुड्डू कुमार आदि ने अहम भूमिका निभाई.