भारत बंद का जनतांत्रिक विकास पार्टी का समर्थन, सड़क पर उतरे पार्टी अध्यक्ष अनिल कुमार समेत सैकड़ों कार्यकर्ता

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क :  नए कृषि कानूनों के विरोध में आज बुलाए गए भारत बंद का व्यापक असर देखने को मिला. इस बंद में शामिल होते हुए पटना के डाकबंगला चौराहे पर जनतांत्रिक विकास पार्टी के नेता व कार्यकर्ताओं ने नए कृषि कानून को वापस लेने की मांग की. साथ ही नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की. वहीं, जनतांत्रिक विकास पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अनिल कुमार ने केंद्र की मोदी सरकार पर भारत विरोधी कानून बनाने का आरोप लगाया.

अनिल कुमार ने कहा कि जनतांत्रिक विकास पार्टी पहले दिन से किसानों के साथ है और आज भी हमारे नेताओं ने किसानों के हित में भारत बंद कराने में सहयोग किया. दरअसल यह अपने आप बंद था, जिसने एनडीए सरकार को आईना दिखाने का काम किया. एनडीए सरकार जैसे – तैसे भारत विरोधी कानून बना रही है, जिससे देश की जनता को नुकसान हो रहा है. यह बंद उनके मंसूबों पर करारा तमाचा है. हम सरकार से आग्रह करते हैं कि देश केवल अडानी– अंबानी से नहीं है, इसलिए हम अपील करते हैं कि समाज, लोकतंत्र और भारत विरोधी कानून वापस लें. वरना आंदोलन और तेज होगा.



उन्‍होंने कहा कि अन्‍नदाता के साथ अन्‍याय सही नहीं है. आज जो लाखों किसान आए हैं वो अपनी पीड़ा व्यक्त करने आए हैं. किसानों की मांगें बिल्कुल सही हैं, किसानों के साथ न्याय हो. देश के करोड़ों लोगों ने इस बंद को  सफल बनाने का काम किया है. कोई नहीं चाहता कि लोगों को असुविधा हो. सरकार को अहंकार का रास्ता छोड़कर हमारा पेट पालने वाले किसानों की बात माननी चाहिए और इन तीनों कानूनों को तुरंत वापस लेना चाहिए.