दरभंगा एवं भागलपुर प्रमंडल के नगर निकायों की योजनाओं की डिप्टी सीएम ने की समीक्षा, दिए यह सब निर्देश

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: पटना के अधिवेशन भवन में डिप्टी सीएम -सह-नगर विकास एवं आवास मंत्री तारकिशोर प्रसाद ने दरभंगा एवं भागलपुर प्रमंडल के नगर निकायों की योजनाओं और कार्यों की समीक्षात्मक बैठक की. नगर निकायों के जनप्रतिनिधियों व पदाधिकारियों के साथ समीक्षात्मक बैठक में उन्होंने कई महत्वपूर्ण निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि नगर विकास एवं आवास विभाग राज्य के शहरों को बेहतर बनाने के लिए पूर्ण रूप से कटिबद्ध है. अब तक पूर्णिया, कोशी और तिरहुत प्रमंडल के साथ आज दरभंगा और भागलपुर प्रमंडल की बैठकें हो चुकी है.

प्रमंडलवार नोडल पदाधिकारी भी नियुक्त हुए हैं जो अब प्रमंडलों में जाकर नगर निकायों के योजनाओं और कार्यों की समीक्षा के साथ योजनाओं का भौतिक निरीक्षण कर मुख्यालय में रिपोर्ट दे रहे हैं और उसके सार्थक परिणाम सामने आ रहे हैं. समस्याओं का त्वरित रूप से समाधान किया जा रहा है. जिन नगर निकाय में सम्राट अशोक भवन नहीं बना है उन सभी नगर निकायों में सम्राट अशोक भवन बनाया जाएगा. यह भवन बनेगा तो यह हर शहर के लिए गौरव की बात होगी. दक्षिण बिहार में सम्राट अशोक भवन की लागत 1.35 करोड और उत्तर बिहार में 1.39 करोड रूपये होगी.



राज्य के सभी चारों स्मार्ट सिटी में काम में तेजी आएगी. इसे लेकर कैबिनेट में बैठक कर नगर विकास एवं आवास विभाग के प्रधान सचिव या सचिव को स्मार्ट सिटी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स का अध्यक्ष बनाया गया है जो पहले प्रमंडलीय आयुक्त हुआ करते थे. अब वर्तमान प्रधान सचिव आनंद किशोर सभी स्मार्ट सिटी की जल्द ही समीक्षा करेंगे. उन्होंने कहा कि प्रदेश के नगर निकायों की बेहतर साफ-सफाई नगर विकास एवं आवास विभाग की सर्वोच्च प्राथमिकता है. आज जो जनप्रतिनिधियों के द्वारा विभाग को सुझाव मिले हैं, वह हमारे लिए मार्गदर्शिका का काम करेगा.