बिहार कैबिनेट की बैठक 11:30 बजे, तेजस्वी भी लेंगे हिस्सा

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार की सियासत में मची उथल-पुथल के बीच सीएम नीतीश ने आज कैबिनेट बैठक बुलाई है. बुधवार 11:30 बजे होने वाली इस बैठक में सबसे बड़ी खबर यह है कि डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव भी इस बैठक में हिस्सा लेंगे.

इधर, महागठबंधन पर संकट के बादल गहराता ही जा रहा है. कल जदयू कार्यकारिणी की बैठक के बाद गेंद एक बार फिर आरजेडी के पाले में फेंक दी गई.  राजद को 4 दिनों का अल्टीमेटम देकर डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव पर फैसला लेने को कहा गया लेकिन राजद ने दोबारा से साफ कह दिया कि तेजस्वी किसी हाल में इस्तीफा नहीं देंगे. इसके बाद सीएम नीतीश कुमार ने आज बुधवार को 11:30 बजे कैबिनेट की बैठक बुलाई है. 

सबकी निगाहें इस बात पर टिकी हैं कि कैबिनेट बैठक में आरजेडी, जेडीयू और कांग्रेस कोटा के नेता रहेंगे. स्वयं डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव भी बैठक में हिस्सा लेंगे. बैठक के दौरान बिहार में उठ रही वर्तमान सियासी संकट पर भी चर्चा की जाएगी. साथी कैबिनेट में बिहार के विकास से जुड़े कई अन्य निर्णय भी लिए जाएंगे. बता दें कि आरजेडी ने साफ़ कह दिया है कि डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव इस्तीफा नहीं देंगे. ऐसे में सीएम नीतीश कुमार को भी अपनी छवि एवं भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टोलेरेंस की नीति पर खड़े रहने के लिए कुछ बड़े निर्णय लेने होंगे.

गौरतलब है कि मंगलवार को नीतीश कुमार ने तेजस्वी यादव पर सीबीआई रेड के बाद पहली बार चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि उनका करप्शन पर जीरो टॉलरंस की नीति से कोई समझौता नहीं होगा. उन्होंने तेजस्वी को चार दिनों में तथ्यों से अपनी बात रखने को कहा. इसके बाद भी आज सीएम नीतीश ने कैबिनेट बैठक बुलाई है. ऐसे में माना जा रहा है कि शायद आज  तेजस्वी यादव को लेकर कोई बड़ा फैसला हो सकता है.

हालांकि इशारों ही इशारों में सीएम नीतीश ने बैठक में किसी का नाम लेकर इस्तीफे की बात नहीं कहीं, लेकिन उदाहरण देते हुए कहा कि जब वो केंद्र में रेल मंत्री थे तो किस तरह गैसल रेल दुर्घटना के बाद नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे दिया था. साथ ही उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी नहीं चाहते थे कि हम इस्तीफा दें, फिर भी मेरी नैतिकता को यह मंजूर नहीं था कि हम रेल मंत्री के पद पर बने रहे.

मीटिंग के बाद जेडीयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने बताया कि पार्टी तेजस्वी यादव से आरोपों पर सफाई चाहती है. उन्होंने कहा कि हम गठबंधन धर्म का पालन करेंगे, मगर नीतीश कुमार भ्रष्टाचार पर जीरो टोलरेंस की नीति पर काम करते हैं. उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव सार्वजनिक तौर पर तथ्य रखें और अपने ऊपर लगे आरोपों पर सफाई दें.

यह भी पढ़ें-  सीएम नीतीश ने आज बुलाई कैबिनेट बैठक, तेजस्वी पर हो सकता है बड़ा फैसला