सिक्योरिटीग गार्ड की मौजूदगी के बाद भी तीन फ्लैट का लॉक तोड़ हो गई लाखों की चोरी

लाइव सिटीज, पटना/अमित जायसवाल : राजधानी में चोरी की वारदात थम नहीं रही है. शास्त्रीनगर और दीघा में एक करोड़ की चोरी के अलग—अलग मामलों का खुलासा पटना पुलिस अभी कर भी नहीं पाई है. चोरी के इन दो बड़ी वारदातों के बाद भी राजधानी के थानों की पुलिस टीम संभली नहीं है. लगातार इनके तरफ से लापरवाही बरती जा रही है. इसी का नतीजा है कि अब राजीव नगर में तीन फ्लैट का लॉक तोड़कर ज्वेलरी और कैश समेत लाखों रुपए की संपत्ति की शातिरों ने चोरी कर ली.

यह मामला राजीव नगर थाना के तहत रामनगरी इलाके की है. सबसे पहले मामला सामने आया आजाद इन्कलेव अपार्टमेंट से. इस अपार्टमेंट में सिक्योरिटी गार्ड भी तैनात है. इसके बाद भी सी ब्लॉक के फ्लैट नंबर 102 का लॉक टूटा हुआ मिला. इस फ्लैट में यूपी के प्रयाग राज के रहने वाले आशीष तिवारी अपनी फैमिली के साथ किराए पर रहते हैं. पटना में रहकर वो एक बड़ी प्राइवेट कंपनी में जॉब करते हैं.



कुछ दिनों से वो अपनी फैमिली के साथ प्रयाग राज में हैं. अचानक 2 सितंबर की सुबह उन्हें पता चला कि उनके फ्लैट का लॉक टूटा हुआ है, उसमें चोरी हुई है. इसके बाद वो पटना आए. जब अपने फ्लैट में गए तो अंदर में सारे सामान बिखरे पड़े थे. आलमिरा खुला हुआ था. उसमें रखे करीब डेढ़ लाख की ज्वेलरी और 20 हजार रुपया कैश गायब था. इनके ठीक उपर फ्लैट नंबर 201 में कुद्रा के अमित सिंह रहते हैं. ये भी एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करते हैं. 1 सितंबर को अमित रांची गए थे. इनका फ्लैट भी लॉक था. इनके फ्लैट में भी ज्वेलरी और कैश की चोरी हुई है. इसके बाद तीसरी चोरी हुई आजाद इन्कलेव के बगल वाले अपार्टमेंट के एक फ्लैट में. उस फ्लैट में भी कोई नहीं था. इस फ्लैट से कितने की चोरी हुई है, इसका पता नहीं चल सका है.

तीन फ्लैट में चोरी की जानकारी मिलने के बाद राजीव नगर थाना की पुलिस टीम मौके पर जांच करने गई थी. जांच में पता चला कि 1 सितंबर की देर रात को ही चोरी की वारदात को अंजाम दिया गया है. पुलिस टीम अपार्टमेंट के सिक्योरिटी गार्ड से पूछताछ कर रही है. साथ ही आसपास में लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज को खंगाल रही है.