विकासशील इंसान पार्टी ने मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री का किया पुतला दहन

लाइव सिटीज, पटना : बिहार के मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से हो रही बच्चों की मृत्यु के विरोध में विकासशील इंसान पार्टी द्वारा बिहार के मुख्यमंत्री एवं स्वास्थ्य मंत्री का पुतला दहन किया गया. पार्टी के दर्जनों पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं द्वारा पटना के गांधी मैदान स्थित कारगिल चौक पर प्रदर्शन किया गया. इस अवसर पर बच्चों के प्रति सरकार के उदासीन तथा गैर-जिम्मेदाराना रवैये को लेकर पार्टी कार्यकर्ताओं में व्यापक रोष दिखा.

इस अवसर पर पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव सह प्रवक्ता छोटे सहनी ने कहा कि मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से एक हफ्ते में 60 से ज्यादा मासूम बच्चों की जान जा चुकी है. जिले के एसकेएमसीएच हॉस्पिटल में इस बुखार से पीड़ित 100 से ज्यादा बच्चे भर्ती हैं. 5-15 साल के पीड़ित बच्चे देश के भविष्य हैं तथा इनके भविष्य को सुरक्षित करने में सरकार नाकाम हो रही है. उन्होंने कहा कि जिले में पिछले 9 सालों में इस बीमारी से सैकड़ों बच्चों की जान जा चुकी है. 2010 से अबतक हर साल दर्जनों बच्चे इस बीमारी की चपेट में आकर अपनी जान गंवा देते हैं.

उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि सरकार इतने सालों से क्या कर रही है? जब पिछले 9 सालों से जिले में हर वर्ष इस बीमारी से बच्चों की जान चली जाती है तो अबतक सरकार ने इसको रोकने के उपाय क्यों नहीं किए? यह सरकार का प्रदेश के बच्चों के प्रति उदासीन और गैर-जिम्मेदाराना रवैये को दर्शाता है. प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री क्या कर रहे हैं? क्या उनके लिए प्रदेश के बच्चों की जान की जरा भी अहमियत नहीं है?

सरकार को इस बीमारी की चपेट में आने से बच्चों को हर हाल में बचाना चाहिए तथा इसके लिए तमाम स्वास्थ्य सुविधाएं अतिशीघ्र उपलब्ध करवानी चाहिए. साथ ही बाहर से भी एक्सपर्ट डॉक्टर्स को बुलाया जाना चाहिए. सरकार को चाहिए कि जल्द-से-जल्द इसको रोकने के तमाम उपाय किए जाएं. यह सुनिश्चित किया जाए कि आगे से इस बीमारी से प्रदेश के एक भी बच्चे की जान नहीं जाए.

इस अवसर पर पार्टी के पटना जिलाध्यक्ष अर्जुन सहनी, चुन्नू चंद्रवंशी, इंतखाब सुभानी, शंकर चौधरी, देवेन्द्र पासवान गोपाल सहनी, शंकर सहनी, पंकज रजक, आजाद सहनी, पंचम यादव, राजकिशोर चौधरी सहित पार्टी के दर्जनों कार्यकर्ताओं ने सरकार के विरोध में प्रदर्शन किया.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*