यज्ञ-हवन भी नहीं बचा सका धनजी सिंह को, मर्डर के बाद बना हुआ है तनाव

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार में 2001 के चर्चित पचपोखरी नरसंहार के मुख्य आरोपी धनजी सिंह की हत्या के बाद से इलाके में तनाव व्याप्त है. पुलिस पूरी तरह से चौकसी बरते हुए है. मंगलवार को हुई धनजी सिंह की हत्या के बाद अभी तक पुलिस के हाथ खाली हैं. अभी तक हत्यारों का कोई सुराग नहीं मिल सका है. पुलिस जल्द से जल्द हत्यारे तक पहुँचने की कोशिश में लगी है.

माना जा रहा है कि धनजी की सुरा-सुंदरी की कमजोरी का फायदा उठा उसके प्रतिस्पर्द्धी गिरोह ने ही जाल बिछा कर इस घटना को अंजाम दिया है और शवों को लाकर फेंक दिया है. पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम के बाद स्थिति कुछ स्पष्ट हो सकती है.  मालूम हो कि 90 के दशक में रोहतास जिले के पचपोखरी गाँव में हुए दलित समुदाय के चार लोगों की सामूहिक हत्याकांड से उभरा धनजी सिंह मंगलवार की रात अपने दो अंगरक्षकों के साथ मारा गया. गोलियों से छलनी उसका शव सासाराम मुफसिल थाना क्षेत्र के दुर्गापुर-साहपुर गाँव के बधार में मिला था.

बता दें कि धनजी सिंह पिछले दिनों आरा में संपन्न हुए विश्वस्तरीय महायज्ञ में चल रहेव हवन में भी शामिल हुआ था. वह विद्वान और देश के प्रसिद्ध संतजीयर स्वामी जी द्वारा आयोजित महायज्ञ में पूर्ण रूप से पूजा अर्चना खुद को झोंके हुए था. इसी दौरान उसने अपना मुंडन भी कराया था तथा शराब और मांसाहारी भोजन के शौकीन धनजी सिंह इन सब चीजों का त्याग कर दिया था.  यज्ञ संपन्न होने के 5 दिनों के अन्दर ही उसकी हत्या हो गई.

फ़िलहाल इलाके में माहौल तनावपूर्ण है. हालांकि पुलिस स्थिति नियंत्रण में होने की बात कह रही है. वहीं आस-पास के लोगों की मानें तो धनजी सिंह की हत्या से कई लोगों में जहां खुशी व्याप्त है तो कहीं लोगों में गुस्सा की बात भी सामने आ रही है.

यह भी पढ़ें – रणवीर सेना के पूर्व कमांडर धनजी सिंह की 2 बॉडीगार्ड के साथ हत्या

धनतेरस में करें रॉयल जूलरी की शॉपिंग, कलेक्शन लाए हैं चांद बिहारी ज्वैलर्स

स्मार्ट बनिए आ रही DIWALI में, अपने Love Bird को दीजिए Diamond Jewelry

PUJA का सबसे HOT OFFER, यहां कुछ भी खरीदें, मुफ्त में मिलेगा GOLD COIN

RING और EARRINGS की सबसे लेटेस्ट रेंज लीजिए चांद​ बिहारी ज्वैलर्स में, प्राइस 8000 से शुरू

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)