लक्ष्यद्वीप के उपराज्यपाल दिनेश्वर शर्मा का निधन, कल गया के विष्णुपद में होगा अंतिम संस्कार

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : गया जिले के बेलागंज थाना अंतर्गत खनेटापाली के रहने वाले दिनेश्वर शर्मा का शुक्रवार को चेन्नई में आकस्मिक निधन हो गया. वे 63 वर्ष के थे. वर्तमान में दिनेश्वर शर्मा लक्ष्यदीप के उपराज्यपाल थे. बताया जाता है कि वे पिछले सप्ताह भर से बीमार रहने के कारण उन्हें चेन्नई में एडमिट कराया गया था. वहां उन्होंने शुक्रवार को अंतिम सांस ली.

2017 से 2019 तक दिनेश्वर शर्मा मोदी सरकार द्वारा नियुक्त कश्मीर में वार्ताकार के रूप में कार्य किए. धारा 370 की समाप्ति के बाद उन्हें लक्ष्यदीप की जिम्मेवारी दी गई थी. वे 1976 केरल कैडर में आईपीएस रहे. उसके बाद लगातार अलग-अलग स्टेट में अपना योगदान दिए थे. 2014 से 31 दिसंबर 2016 तक केंद्रीय खुफिया एजेंसी आईबी के निदेशक रहे. उनके आकस्मिक निधन से गया जिले में शोक की लहर है.



परिजनों के अनुसार, दिनेश्वर शर्मा अपने पीछे पत्नी मंजू, एक पुत्र और एक पुत्री को छोड़ गए. उनका पार्थिव शरीर शुक्रवार की देर रात गया जिले के बेलागंज स्थित पैतृक गांव लाया जाएगा. वहां राजकीय सम्मान के साथ उनका पार्थिव शरीर का विष्णुपद स्थित श्मशान घाट पर शनिवार को अंतिम संस्कार किया जाएगा. उन्होंने अपने प्राइमरी शिक्षा खनेटा पाली प्राथमिक विद्यालय से की थी. उसके बाद मैट्रिक तक की पढ़ाई टी मॉडल इंटर स्कूल गया से की थी.

प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर लक्षद्वीप के प्रशासक दिनेश्वर शर्मा के निधन पर शोक संवेदना प्रकट की है. उन्होंने लिखा है, ‘लक्षद्वीप के प्रशासक दिनेश्वर शर्मा जी ने भारत के पुलिसिंग और सुरक्षा तंत्र में लंबे समय तक योगदान दिया. उन्होंने अपने पुलिसिंग कॅरियर के दौरान आतंकवाद और उग्रवाद के खिलाफ कई संवेदनशील मोर्चों को संभाला. उनके निधन से बहुत दुख हुआ. उनके परिवार के प्रति हमारी संवेदना है. ऊं शांति..

उधर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी दिनेश्वर शर्मा के निधन पर शोक प्रकट किया है. उन्‍होंने ट्वीट कर कहा, लक्षद्वीप के प्रशासक दिनेश्वर शर्मा जी के निधन के बारे में जानकर गहरी पीड़ा हुई. उन्होंने भारतीय पुलिस सेवा के एक समर्पित अधिकारी के रूप में सेवा करते हुए देश भक्ति का परिचय दिया. दुख की इस घड़ी में उनके परिवार के प्रति मेरी हार्दिक संवेदनाएं. ऊं शांति…