डॉक्टरों से मारपीट की घटना से क्षुब्ध सिविल सर्जन का इस्तीफा नामंजूर, अफसरों ने जताया पूर्ण सुरक्षा का भरोसा

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: गोपालगंज में सिविल सर्जन डॉ योगेंद्र महतो का इस्तीफा नामंजूर कर दिया गया है. यह निर्णय स्वास्य विभाग ने लिया है. सिविल सर्जन ने अस्पताल में मरीज परिजनों के द्वारा डॉक्टरों के साथ मारपीट किए जाने के खिलाफ एक्शन लेते हुए विभागीय उच्चाधिकारियों को इस्तीफा भेजा था.

कोरोना महामारी में मरीजों की जान जाने पर परिजन अपना धैर्य खो दे रहे हैं. इस समय उन्हें कुछ नहीं सूझ रहा और वह डॉक्टर और कर्मचारियों पर लापरवाही का तोहमत मढ़ते हुए मारपीट पर उतारू हो जा रहे हैं. राजधानी के एनएमसीएच, आरा, बेतिया और प्रदेश के दूसरे कई जिलों में ऐसे परिजनों के द्वारा डॉक्टर एवं स्वास्थ्य कर्मियों के साथ मारपीट की घटना को अंजाम दी जा चुकी है.

एक दिन पहले इसी तरह के मामले में मरीज के परिजनों ने गोपालगंज में डॉक्टरों के साथ मारपीट की थी. इस घटना से आहत सिविल सर्जन योगेंद्र महतो ने अपना इस्तीफा विभाग को भेजा था. जिस पर विभागीय अधिकारियों उसे नामंजूर करते हुए अस्पताल में सुरक्षा के चाक-चौबंद व्यवस्था करने पर आश्वासन दिया है.