UPDATE : नवोदय विद्यालय के बीमार बच्चों का हाल जानने पहुंचे डीएम, परिजनों में है आक्रोश

लखीसराय, बच्चों की तबीयत बिगड़ी,नवोदय विद्यालय, नवोदय विद्यालय बड़हिया, फ़ूड पॉइजनिंग,children sick ,navodaya vidyalaya,food poisoning

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्कः लखीसराय में बच्चों के बीमार पड़ने के मामले की जांच के लिए डीएम शोभेंद्र कुमार चौधरी बड़हिया पहुंचे है. वो बड़हिया रेफरल अस्पताल में बच्चों से मिल रहे हैं. इसके साथ ही साथ बीमार बच्चों के इलाज का जायजा ले रहे हैं. उधर डीएम ने बमार बच्चों के अभिभावकों से बात चीत की है. बच्चों के बेहतर इलाज का भरोसा दिलाया है.

स्कूल प्रबंधन के खिलाफ आक्रोश

वहीं परिजनों ने स्कूल प्रबंधन के खिलाफ गंभीर आरोप लगाए हैं. परिजनों के मुताबिक बच्चों की सेहत के साथ खिलवाड़ किया गया है. परिजनों ने डीएम से मिलकर स्कूल प्रबंधन की शिकायत की है. आपको बता दें कि भारी संख्या में बच्चों की तबीयत अचानक बिगड़ गई है. दरअसल नवोदय विद्यालय बड़हिया के 80 से भी अधिक बच्चे फ़ूड प्वाइजनिंग का शिकार हो गए हैं. वहीं कुछ शिक्षकों की तबीयत भी बिगड़ गई है.

सभी बच्चों को उल्टी-दस्त की शिकायत

मिल रही जानकारी के मुताबिक गुरुवार की रात खाना खाने के बाद सबकी हालत गंभीर होती चली गई. उल्टी-दस्त और सिर में चक्कर आने की शिकायत के बाद शुक्रवार अहले सुबह 3 बजे से ही बच्चों को इलाज के लिए बड़हिया रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां डॉक्टर द्वारा उनका इलाज किया जा रहा है.

10 बच्चों को किया गया सदर अस्पताल रेफर

वहीं हालत ज्यादा गंभीर होने के कारण 10 के करीब बच्चों को लखीसराय सदर अस्पताल रेफर किया गया है. बताया जा रहा है कि रात में होस्टल में पलाव और पनीर बनाया गया था. आशंका जताई जा रही है कि पनीर की क़्वालिटी में ही कुछ गड़बड़ी होगी. जिसे खाकर बच्चे व शिक्षक बीमार पड़े.

अस्पताल में कम पड़ गए बेड

सुबह से बच्चों के पहुंचते ही अस्पताल में अभिवावकों की भीड़ लग गई. बेड कम पड़ने लगे थे. एक आयुष चिकित्सक समेत महज दो डॉक्टर अस्पताल में मौजूद थे. जोकि बच्चों का इलाज कर रहे थे. प्राचार्य डॉ सचित कुमार ने बताया कि रात का खाना खाने के बाद बच्चों की तबीयत बिगड़ने लगी. जिसके बाद बच्चों को अस्पताल लाया गया. डॉक्टरों ने बच्चों को खतरे से बाहर बताया है.