खतरे से बाहर है रश्मि की हालत, डॉक्टर ने निकाल दी है बॉडी से गोलियां

follow-up

पटना : नाबालिग रश्मि की हालत अब खतरे से बाहर है. पीएमसीएच में अभी उसका इलाज चल रहा है. आॅपरेशन के दौरान डॉक्टर और उनकी टीम ने रश्मि के शरीर से तीन गोलियां निकाली है. जबकि जिस वक्त उसे गोली मारी गई थी, उस दौरान ये बात सामने आई्र थी कि उसे सिर्फ एक गोली लगी है. अपने शुरूआती जांच में पुलिस ने भी एक ही गोली लगने की पुष्टि की थी.

लेकिन अब ये साफ हो गया है कि हमला करने वाले युवक शुभम ने तीन गोली फायरिंग की थी और तीनों ही रश्मि के शरीर में उतार दी थी. गौरतलब है कि लड़की को गोली से भूनने का ये मामला मंगलवार की शाम का है. वारदात को उसके पहचान के ही लड़के शुभम ने अंजाम दिया था. उस वक्त रश्मि साईं मंदिर के पास से गुजर रही थी. पटना को नीतीश कुमार के 10 बड़े गिफ्ट, सीधे बिहटा तक लंबा फ्लाई ओवर बनेगा



जैसे—जैसे पुलिस की जांच आगे बढ़ रही है, वैसे—वैसे नई बातें सामने आ रही है. रश्मि और उसका परिवार सीतामढ़ी का रहने वाला है. भाई समेत परिवार के सभी लोग बेगूसराय के रहने वाले शुभम को अच्छे से जानते हैं. रश्मि पटना के जेडी वीमेंस कॉलेज में इंटरमीडिएट के फर्स्ट ईयर की स्टूडेंट है. अब तक वारदात के पीछे की मुख्य वजह अफेयर ही माना जा रहा है.

पुलिस भी इसी बात को मान कर अपनी जांच कर रही है. हालांकि परिवार वालों को भी ये समझ में नहीं आ रहा है कि उनकी लाडली को शुभम ने गोली क्यों मारी? आखिर रश्मि ने उसका क्या बिगाड़ा था? पटना पुलिस की टीम लड़की के होश में आने का इंतजार कर रही है. ताकि उसका बयान लिया जा सके. फरार शुभम की तलाश में गर्दनीबाग थाने की टीम लगातार छापेमारी कर रही है.