रिटायरमेंट बाद भी नहीं बच पाए डीएसपी, महिला से अश्लील बातें करने के मामले में हो गयी कार्रवाई

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : महिला से अश्लील बातें करना इस डीएसपी को बहुत महंगा पड़ गया. डीएसपी ने बचने की सारी जतन कर ली, लेकिन अपने आप को बचा नहीं पाए. मामले में कार्रवाई करते हुए सरकार ने रिटायरमेंट के बाद उनके खिलाफ पेंशन नियमावली के तहत विभागीय कार्यवाही चलाने का आदेश दे दिया है. डीआईजी एटीएस विकास वैभव को संचालन पदाधिकारी बनाया गया है. जिसको लेकर गृह विभाग की ओर से आदेश जारी कर दिया गया है.

दरअसल राजधानी पटना के तत्कालीन डीएसपी टाउन एसए हाशमी पर महिला से फोन पर अश्लील बातें करने का मामला सामने आया. दोनों के बीच हुई बातों का ऑडियो वायरल हुआ था. जिसमें एसए हाशमी एक महिला से अश्लील बातें कर रहे थे. मामला उजागर होने के बाद इसकी जांच डीआईजी ईओयू ने करायी गयी. यहां तक की ऑडियों में आवाज की एफएसएल जांच करायी गयी. जांच में एसए हाशमी की आवाज होने की पुष्टि हो गयी.



एफएसएल जांच रिपोर्ट के बाद विभाग की ओर से डीएसपी एसए हाशमी से लिखित जवाब मांगा गया. हाशमी ने जवाब दिया, लेकिन विभाग ने जवाब को स्वीकार योग्य नहीं माना और डीएसपी को सस्पेंड कर दिया गया. विभागीय कार्रवाई के बीच ही एसए हाशमी सेवानिवृत हो गए.

लेकिन विभागीय कार्रवाई रूकी नहीं. जैसे ही मामले खुलकर स्पष्ट हो गए तो सरकार ने जांच रिपोर्ट के आधार पर इसे गंभीर मामला मानते हुए कार्रवाई का आदेश दे दिया. रिटायरमेंट के बाद बिहार पेंशन नियमावली के तहत उनके खिलाफ विभागीय कार्यवाही चलाने का निर्देश दे दिया है. जिसका संचालन पदाधिकारी डीआईजी विकास वैभव को बनाया गया है.  

वहीं, एक अन्य मामले में हिलासा के तत्कालीन एसडीपीओ मत्तफिक अहमद को पर्यवेक्षण में लापरवाही के लिए संचयी प्रभाव से तीन वेतनवृद्धि पर रोक की सजा दी गई है. इस मामले में उनके द्वारा दिए गए पुनर्विलोकन अभ्यावेदन को सरकार ने खारिज कर दिया है.