मुजफ्फरपुर में भारत बंद के दौरान दूल्हा-दुल्हन के साथ बदसलूकी, उपद्रवी माने नहीं, कर दी यह हरकत…

लाइव सिटीज,अभिषेक/मुजफ्फरपुर : अभी शादी-ब्याह का सीजन चल रहा है. ऐसे में भारत बंद ने मांगलिक कार्यक्रम में जा रहे लोगों की परेशानी बढ़ा दी. कहीं बारात फंस गए जाम में तो कहीं दूल्हा-दुल्हन गाड़ी में ही घंटों कैद होकर रह गए. जाम की वजह से दुल्हन को कुछ ज्यादा परेशानी हुई. दरअसल, किसानों के आंदोलन के तहत वैशाली में जाम लग गया और इस जाम में कई नवविवाहित जोड़े भी फंस गए. रातभर शादी के मंडप में लगातार कई घंटों तक बैठे रहने के बाद, फिर विदाई के बाद गाड़ी में भी लगातार काफी देर तक बैठे रहना पड़ा.

पटना से सटे हाजीपुर में शादी संपन्न होने के बाद मुजफ्फरपुर लौट रही दूल्हा-दुल्हन की कार जाम में फंस गयी. इसके चलते उन्हें काफी प्रॉब्लम हुई. बंद समर्थकों द्वारा सड़क पर आगजनी करने और कृषि बिल के विरोध में प्रदर्शन करने की वजह से हाजीपुर-मुजफ्फरपुर मार्ग पर वाहनों का परिचालन ठप रहा. इस बीच दूल्हा-दुल्हन की कार भी उसी भीड़ में आकर फंस गई. न वह आगे बढ़ पा रही थी और न ही पीछे करने की जगह बची थी.



जाम में फंसे दुल्हा-दूल्हन

जिले के काजी मोहम्मदपुर थाना क्षेत्र के माड़ीपुर चौक के समीप फूलों से सजी हुई एक गाड़ी पर दूल्हा बैठकर शादी करने जा रहा था, तभी बंद समर्थकों ने न केवल गाड़ी को रूकवाई दिया  बल्कि बंद में शामिल लड़के डंडा लेकर दूल्हे के साथ गुंडागर्दी करते रहे. इस दौरान सजाई हुई गाड़ी के फूल माला भी उजाड़ दिए. राहगीरों के साथ भी बदतमीजी की गई. उनके साथ भी जमकर नोकझोंक की गई. कुछ देर बाद सूचना मिलने पर मौके पर पुलिस बंद समर्थकों को समझा बुझाकर मामले का शांत कराया.

जाम में फंसे दूल्हे ने मीडिया को बताया कि उनके पास कोई विकल्प ही नहीं है. कोई दूसरा रास्ता भी नहीं है. भीड़ में कोई सुनने वाला नहीं है. उन्हें यह भी चिंता सता रही थी कि समय पर लोग नहीं पहुंचे तो घर पर रिसेप्शन पार्टी समय पर कैसे अरेंज होगी. उनके साथ घर के अन्य लोग भी दूसरी गाड़ी में इसी जाम में फंसे हुए थे.