गांधी मैदान में नहीं होगी ईद की नमाज, 95 साल बाद दोहराया इतिहास

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क :  इस साल पटना के गांधी मैदान में ईद की नमाज नहीं होगी. करीब 95 साल के बाद ऐसा होने जा रहा है, जब एक बार फिर पटना के गांधी मैदान में ईद की रौनक नहीं देखने को मिलेगा. और इसके पीछे कारण होगा कोरोना. ईद नमाज कमिटी गांधी मैदान की ओर से सभी नमाजियों को अपने अपने घरों में नमाज अदा करने की अपील की गयी है.

ईद नमाज कमिटी गांधी मैदान के सदर महमूद आलम और सचिव मौलाना मो. मिस्बहुद्दीन ने अपील करते हुए कहा है कि ईद-उल-फित्र की नमाज अदा करने के लिए लोग गांधी मैदान ना आएं. वो अपने अपने घरों पर रहकर ईद की नमाज अदा करे, साथ ही लॉकडाउल का पालन करते हुए सोशल डिस्टेंसिंग के तहत पर्व को मनाएं.

उधर इमारत-ए-शरिया फुलवारीशरीफ के अमीर-ए-शरियत हजरत मौलाना सैयद वली रहमानी ने भी लोगों से अपने अपने घरों में ईद की नमाज अदा करने की अपील की है. साथ ही कहा है कि जिन मस्जिदों व ईदगाहों में ईद की नमाज होते आ रही है, वहां चंद लोग ही ईद की नमाज अदा करें. ऐसा करना हमसभी की सेहद के लिए जरूरी हैं.

इससे पहले हर साल पटना के गांधी मैदान में 40 से 50 हजार से ज्याद नमाजी ईद की नमाज पढ़ते थे. मुख्यमंत्री समेत कई राजनीतिक हस्तियां शिरकत करते थे. और एक दूसरे से गले मिलकर ईद की मुबारकवाद दिया जाता था. लेकिन इसबार कोरोना के कारण यह सब नहीं देखने को मिलेगा. कोरोना जिस प्रकार के कहर बरपा रहा है उसको देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना जरूरी है .

बता दे कि इस मौसम में जहां बाजारों में रौनक के साथ खरीददारी जोरों पर हुआ करती थी, वहीं  कोरोना के कारण बाजारों में सन्नाटा पसरा हुआ है. लॉकडाउन के कारण शहर के गिने चुने दुकाने ही खुल रहे हैं. हालांकि जिलाधिकारी पटना की ओर से 22 मई को शर्त के अनुसार कई प्रकार के दुकानों को खोलने अनुमति दे दी है.