निर्वाचन आयोग की पहल: डाकिए का अब इंतजार नहीं, सर्विस वोटरों को मोबाइल पर मिलेगा बैलेट

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क :   बिहार में डेढ़ लाख से अधिक सर्विस वोटर हैं. उनके लिए निर्वाचन आयोग लगातार चिंतित है. मिल रही जानकारी के अनुसार, निर्वाचन आयोग वोटिंग की नई व्यवस्था में लग गया है. सर्विस वोटरों के लिए इलेक्ट्रॉनिकली ट्रांसमिटेड पोस्टल बैलेट मैनेजमेंट सिस्टम की शुरुआत की जा रही है.

सूत्रों के अनुसार रजिस्टर्ड सर्विस वोटरों को उनका बैलेट पेपर इस बार मनचाहे स्थान पर मोबाइल ऐप के माध्यम से मिल जाएगा. वे वहां बैलेट प्रिंट कराएंगे. इसके बाद मनपसंद प्रत्याशी को वोट कास्ट कर बैलेट रिटर्निंग अफसर को भेज सकेंगे. अलग-अलग विधानसभा क्षेत्र के सर्विस वोटरों को वोटिंग के लिए अब पोस्टल डिपार्टमेंट से बैलेट मिलने का इंतजार नहीं करना होगा.



बिहार में अभी 160422 सर्विस वोटरों की पहचान कर ली गई है. इन्हें आयोग ईटीपीबीएस के तहत रजिस्टर्ड करेगा और उनका बैलेट पेपर ऑनलाइन मोबाइल के जरिए उपलब्ध कराएगा. पूर्व में सर्विस वोटरों को डाक विभाग से बैलेट मिलने में देर हो जाती थी. नाम-पते में त्रुटि से कभी कभी तो इन वोटरों को बैलेट पेपर तक नहीं मिलता था.

जानकारी के अनुसार, अभी पश्चिम चंपारण 3034, पूर्वी चंपारण 4353, शिवहर 178, सीतामढ़ी 2335, शेखपुरा 889, नालंदा 5215, पटना 12462, भोजपुर 17435, बक्सर 8634, कैमूर 2856, रोहतास 7409, अरवल 2616, जहानाबाद 4487, औरंगाबाद 3967, गया 7788 नवादा 3307, जमुई 1455, मधुबनी 3356, सुपौल 1180, अररिया 885,किशनगंज 158, पूर्णिया 1091, कटिहार 1739, मधेपुरा 1210, सहरसा 1740, दरभंगा 2218, मुजफ्फरपुर 4959, गोपालगंज 2265, सीवान 7121, सारण 10768, वैशाली 6318, समस्तीपुर 3902, बेगूसराय 4086, खगड़िया 2970, भागलपुर 6241, बांका 1909, मुंगेर 5364 व लखीसराय 2522 में सर्विस वोटर हैं.