दो चरण के पंचायत चुनाव के लिए जिलों में पहुंच गई इवीएम, 20 अगस्त से फर्स्ट लेवल का चेकिंग होगा पूरा

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क:  बिहार पंचायत चुनाव में पहली बार ईवीएम का इस्तेमाल होगा. दो चरण के चुनाव के लिए सभी जिलों में ईवीएम पहुंच गई. राज्य में पंचायत चुनाव के दौरान कुल दो लाख 09 हजार इवीएम का इस्तेमाल किया जाएगा. राज्य निर्वाचन आयोग के मुताबिक, पंचायत चुनाव के लिए करीब डेढ़ लाख ईवीएम बिहार पहुंच चुकी हैं. निर्वाचन आयोग 10 फेज में राज्य में पंचायत चुनाव कराने की तैयारी कर रहा है.  हर फेज में प्रत्येक जिले के 2 प्रखंड में चुनाव होना है. आंकलन के मुताबिक, हर फेज में लगभग 15 हजार बूथ होंगे. हर बूथ पर पंचायती राज व्यवस्था के 4 पदों के लिए 4 ईवीएम रखे जाएंगे. इस तरह हर फेज में करीब 60 हजार ईवीएम की जरूरत होगी. आयोग की प्लानिंग के मुताबिक, पहले फेज के ईवीएम का इस्तेमाल तीसरे फेज में किया जाएगा.

सभी जिलों में ईवीएम के पहुंचने के बाद 20 अगस्त से ईवीएम की फर्स्ट लेवल चेकिंग का काम पूरा हो जाएगा. जिन जिलों में ईवीएम पहुंच चुकी हैं वहां पहले से ही यह काम शुरू हो चुका है. फर्स्ट लेवल चेकिंग, यानी एफएलसी में ईवीएम की तकनीकी जांच की जाएगी. इस दौरान अगर किसी ईवीएम में कोई दिक्कत होती है तो उसे तकनीकी विशेषज्ञों से ठीक करा लिया जाएगा. इसके बाद ईवीएम मशीनें बैलेटिंग के लिए रेडी हो जाएगी.

बता दें कि ईवीएम के माध्यम से पंचायत के चार पदों मुखिया, वार्ड सदस्य, पंचायत समिति सदस्य व जिला परिषद सदस्य के लिए वोटिंग होगी. जबकि दो पदों, पंच व सरपंच के लिए बैलेट बॉक्स के माध्यम से मतदान होना है. दो चरणों के चुनाव के बाद इसी इवीएम का इस्तेमाल फिर अगले चरण के लिए होगा. सूत्रों की मानें तो मंगाई गई इवीएम का जल्द ही वेरिफिकेशन किया जाएगा और अगस्त के तीसरे सप्ताह में चुनाव की अधिसूचना जारी हो सकती है.