लंबी बीमारी के बाद फिल्म अभिनेता विनोद खन्ना का निधन

लाइव सिटीज डेस्कः मशहूर बॉलिवुड ऐक्टर विनोद खन्ना का निधन हो गया है. 70 वर्षीय खन्ना कैंसर से पीड़ित थे. हाल ही में उनकी एक तस्वीर भी वायरल हुई थी, जिसमें वे बेहद कमजोर नजर आ रहे थे. विनोद खन्ना ऐक्टिंग के अलावा राजनीति में भी सक्रिय थे. गुरुदासपुर से सांसद रहे विनोद खन्ना ने मुंबई के रिलायंस फाउंडेशन अस्पताल में अंतिम सांस ली.



खन्ना को बीते 31 मार्च को मुंबई स्थित सर एच एन रिलायंस फाउंडेशन अस्पताल में भर्ती कराया गया था. हालांकि, अस्पताल की ओर से यही कहा गया था कि खन्ना के शरीर में पानी की कमी हो गई है. विनोद खन्ना के दो बेटे अक्षय खन्ना और राहुल खन्ना हैं, जो बॉलिवुड में सक्रिय हैं.

बता दें कि विनोद खन्ना का जन्म 6 अक्टूबर 1946 पेशावर (पाकिस्तान) में हुआ. उनके पिता का टेक्सटाइल, डाई और केमिकल का बिजनेस था. विनोद खन्ना पांच भाई बहनों में से एक हैं. उनके एक भाई और तीन बहने हैं. आजादी के समय हुए बंटवारे के बाद उनका परिवार पाकिस्तान से मुंबई आकर बस गया. विनोद बचपन में बेहद शर्मीले थे, स्कूल के दौरान उन्हें एक टीचर ने जबरदस्ती नाटक में उतार दिया और उन्हें अभिनय की कला पसंद आई.

बोर्डिंग स्कूल में पढ़ाई के दौरान विनोद खन्ना ने ‘सोलवां साल’ और ‘मुगल-ए-आज़म’ जैसी फिल्में देखीं और इन फिल्मों ने उन पर गहरा असर छोड़ा.  विनोद खन्ना के पिता नहीं चाहते थे कि उनका बेटा फिल्मों में जाए. विनोद की जिद के आगे वे झुके और उन्होंने दो साल का समय विनोद को दिया. विनोद ने इन दो सालों में मेहनत कर फिल्म इंडस्ट्री में जगह बना ली.

खन्ना ने अभिनय की शुरुआज 1968 में फिल्म ‘मन का मीत’ से की. उन्होंने इसके साथ ही उन्होंने ‘मेरे अपने’, ‘मेरा गांव मेरा देश’, ‘इम्तिहान’, ‘इनकार’, ‘अमर अकबर एंथनी’, ‘लहू के दो रंग’, ‘कुर्बानी’, ‘दयावान’ और ‘जुर्म’ जैसी फिल्मों में उनके अभिनय के लिए जाना जाता है. वह आखिरी बार 2015 में शाहरुख खान की फिल्म ‘दिलवाले’ में नजर आए थे.

यह भी पढ़ें-
ब्रांड बिहार : बेगूसराय के दीपक बने लखनऊ के एसएसपी