“पता किजिए तो कि उ लोग ख़ुद ही राजद में है कि निकल लिया” RJD नेताओं पर मांझी ने किया कटाक्ष

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क: खरमास बाद जेडीयू में भारी टूट होगी. विपक्ष के ऐसे दावों पर हम अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा “ आज ही ना 14 तारीख है जी? उ @RJDforIndia वाला बड़का नेता लोग कहा था कि 14 जनवरी को @Jduonline का 17 गो विधायक लेकर महागठबंधन के सरकार बनाएंगें. पता किजिए तो कि उ लोग ख़ुद ही राजद में है कि निकल लिया”.

खरमास के दिनों में पक्ष और विपक्ष की ओर से टूट के दावे प्रतिदावे खूब किए गए. आरजेडी नेता श्याम रजक ने बयान देते हुए कहा था कि जेडीयू के 17 विधायक मेरे संपर्क में हैं. वे सभी समय का इंतजार कर रहे हैं. जैसे ही शुभ घड़ी आएगी ये विधायक आरजेडी में चल आएंगे.



आरजेडी के प्रदेश उपाध्यक्ष के इस बयान पर वार-पलटवार खूब हुआ. जेडीयू नेताओं की ओर से भी आरजेडी में भारी टूट के दावे किए गए. जिसको लेकर तरह-तरह के बयानबाजी हुई. यहां तक की सीएम नीतीश कुमार को भी सामने आकर सफाई देना पड़ा. आरजेडी के इस बयान को महज अफवाह करार देते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि इसमें तनिक भी सच्चाई नहीं है. मैं इस तरह के बयानों पर गौर नहीं करता. जेडीयू के साथ एनडीए के अन्य घटक दल एकजुट है.

इधर बीजेपी नेता भूपेन्द्र यादव ने भी खरमास बाद आरजेडी में भारी टूट का दावा किया है. राजगीर में आयोजित पार्टी के प्रशिक्षण शिविर को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि तेजस्वी जी अपनी पार्टी को टूटने से बचा सके तो बचा लें. आरजेडी को टूटने से कोई नहीं रोक सकता. बीजेपी नेता के इस बयान का जेडीयू ने खुलकर समर्थन किया.

जेडीयू सांसद ललन सिंह ने भूपेन्द्र यादव के दावों का समर्थन करते हुए यहां तक कह दिया कि वो जिस दिन चाह लेंगे पूरा का पूरा आरजेडी बीजेपी में विलय हो जाएगा. वहां कोई नेता नहीं है. जिस नेता को कुछ भी ज्ञान नहीं है, उसके बयान पर कोई ध्यान नहीं देता है.