बेऊर मामले में शूटर दीना गोप और उसके साढू समेत 4 लोगों पर दर्ज हुई एफआईआर

लाइव सिटीज,पटना/अमित जायसवाल : बेऊर में रविवार को हुए सनसनीखेज वारदात के मामले में एफआईआर दर्ज हो गई है. इस एफआईआर को खुद प्रोपर्टी डीलर टुनटुन गोप ने बेऊर थाना में सोमवार को दर्ज कराया है. इसमें 4 लोगों को नामजद किया गया है. जिसमें फुलवारी शरीफ के करोड़ी चक का कुख्यात का दीना गोप, इसके साढू आकाश कुमार, पार्टनर संजय कुमार और एक स्टाफ को नामजद किया गया है. पटना पुलिस की टीम लगातार नामजद किये गए हर शख्स के एक-एक ठिकाने को खंगाल रही है. वारदात के कुछ घंटों के  बाद ही रेंज आईजी संजय सिंह ने सिटी एसपी वेस्ट अशोक मिश्रा की अगुवाई में एक एसआईटी का गठन कर दिया था. तब से लगातार एसआईटी अपराधियों की तलाश में लगातार ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही है.

हालांकि अभी तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है. गौरतलब है की प्रोपर्टी डीलर टुनटुन गोप के ऑफिस में 8 से 10 लोग बैठे हुए थे. इसमें दूसरे एरिया के भी प्रोपर्टी डीलर शामिल थे. उसी दरम्यान आये अपराधियों ने बैक टू बैक गोलियां चलानी शुरू कर दी. जिसमें टुनटुन गोप के भाई धर्मेंद्र यादव और कातिक राजेश कुमार समेत 4 लोगों को गोली मारी गई थी. इसमें राजेश की मौत मौके पर ही गई. जबकि एक शख्स का उसके सिर पर हथियार के बट से वार किया गया था.



– दो कारबाइन लेकर आये थे अपराधी

इस वारदात को अंजाम देने के लिए अपराधी पूरी तैयारी के साथ आये थे. ऑफिस के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे का फुटेज सामने आया है. फुटेज देखकर साफ पता चल रहा है कि अपराधी शार्प शूटर थे. वो पूरी प्लानिंग के साथ आये थे. तीन बाइक से 6 अपराधी आये थे. ऑफिस के अंदर कुल 5 अपराधी गए थे. इनमें से 2 अपराधी के हाथों में कारबाइन थी. जिसे वो पिट्ठू बैग में लेकर आये थे. जबकि बाकी अपराधियों के हाथ में पिस्टल था.

वहीं एक अपराधी दूर से ही नजर रख रहा था. वारदात को अंजाम देने के बाद एक बाइक स्टार्ट नहीं हुई. जिसे अपराधियों ने वहीं छोड़ दिया. बाकी के दो बाइक पर सवार होकर अपराधी फरार हो गए. सभी ने अपने सिर को हेलमेट और मास्क से कवर कर रखा था. फुटेज में अपराधी बेऊर जेल की तरफ से आते हुए दिखे थे और उसी रास्ते फरार हो गए. जिस तरह से इस वारदात को अंजाम दिया गया, उससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि इन्हें मोटी रकम दे कर हायर किया गया था.

– मुख्य गवाह हैं टुनटुन गोप

साल 2018 में पटना की पूर्व डिप्टी मेयर अमरावती देवी के पति दीना यादव उर्फ दीना गोप की गोलीमार कर हत्या कर दी गई थी. सुबह-सुबह एके-47 से उन्हें भून दिया गया था. इस कांड को फुलवारी शरीफ के करोड़ीचक के रहने वाले दीना गोप ने अंजाम दिया था. पुलिस ने उसे गिरफ्तार भी किया था. लेकिन बाद में कोर्ट से उसे बेल मिला गया था.

टुनटुन गोप उस कांड के मुख्य गवाह हैं. वो खुद भी मानते हैं कि इसी वजह से दीना गोप ने उन्हें अपने निशाने पर ले रखा है. दूसरी वजह यह है कि बेऊर के पास महिंद्रा शो रूम है. उसके बगल में जमीन के 15 कट्ठे का प्लॉट है. इस पर भी वो अपनी नजर गड़ाए हुए है. गौरतलब है कि अपराधी टुनटुन गोप को ही मारने आये थे. लेकिन हमले के दौरान वो ऑफिस में नहीं थे.