हादसा : हाथ में निकाह का कार्ड लिए फिरोज ने तोड़ दिया दम

गोपालगंज (मांझागढ़): बस कुछ दिन ही तो बचे थे फिरोज की निकाह में. सेहरा बांधने की घड़ी जैसे- जैसे नजदीक आ रही थी. फिरोज अपनी शादी के सपनों में खो चुका था. होने वाली दुल्हन की तस्वीर लिए उसे निहारना बड़ा अच्छा लग रहा था. खुशी इतनी कि इस निकाह में लोगों को शरीक करने के लिए खुद ही घर- घर जा कर कार्ड बांट रहा था. लेकिन काल को यह गंवारा नहीं था. शायद खुदा को  उसका निकाह नागवार गुजरा होगा. और वैवाहिक बंधन में बंधने से महज 10 दिन पहले एक भीषण सड़क हादसे में फिरोज शादी के अरमानों को ख्वाबो में सजाये हुए ही काल के मुंह में समा गया. 

फिरोज अपने बहनोई के साथ खुद की शादी का कार्ड अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को देने बाइक से निकला था. एन एच 28 पर मांझा गढ़ थाना क्षेत्र के भोजपुरवां गांव के समीप साइकिल सवार को बचाने के क्रम में फिरोज की मौत हो गयी, जबकि मृतक का बहनोई गंभीर रुप से घायल हो गया. 

मृतक युवक छपरा के अमनौर थाना क्षेत्र के अमनौर गांव निवासी कलामुल्लाह आलम का 30 वर्षीय पुत्र फिरोज आलम था. वह टेलर मास्टर का काम करता था. उसकी शादी छह जुलाई को ही होनी थी. वहीं, मृतक का घायल बहनोई सिधवलिया थाना क्षेत्र के सरेया पहाड़ निवासी फिरोज आलम को बेहतर इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज गोरखपुर रेफर किया गया.

हादसे की सूचना मिलने पर अस्पताल पहुंचे परिजनों ने स्वास्थ्य विभाग पर लापरवाही का आरोप लगाया. परिजनों ने कहा कि इमरजेंसी वार्ड में मृतक का सही तरीके से उपचार नहीं हो सका. जिसके कारण उसकी मौत हो गयी. परिजनों ने कहा कि ब्लड बैंक के आयूष चिकित्सक इलाज कर रहे थे. इस मामले को लेकर जिलाधिकारी के पास मोबाइल पर शिकायत कर कार्रवाई की मांग की है.

यह भी पढ़ें-  मौत की सेल्फी : रेल लाइन पर फोटो खींचने में थे व्यस्त, ट्रेन रौंदते गुजर गई