साढ़े 5 लाख कोरोना वैक्सीन की पहली खेप पहुंची पटना, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने किया रिसिव, आज के दिन को बताया ऐतिहासिक

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : पूरे देश के साथ-साथ आज बिहार के लिए ऐतिहासिक दिन है. कोरोना वैक्सीन पटना पहुंच गयी है. पुणे के सिरम इंस्टीच्यूट से स्पाइस जेट विमान से सीधे पटना वैक्सीन पहुंची. जिसको रिसिव करने लिए पटना हवाई अड्डा पर खुद स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय और विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत मौजूद रहे. दोनों ने वैक्सीन की पहली खेप को रिसिव किया.

इस घड़ी को ऐतिहासिक बताते हुए स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि बिहार के लिए यह एक कभी ना भूलने वाली तारीख बन गयी. जब जब कोरोना का जिक्र किया जाएगा तब तब 12 जनवरी 2021 की यह तारीख याद की जाएगी. वहीं विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने भी बिहार में वैक्सीनेशन की पूरी तैयारी की बात करते हुए कहा कि पहले चरण में स्वास्थ्यकर्मियों को टीका दिया जाएगा.



प्रत्यय अमृत ने लोगों से अफवाह पर ध्यान नहीं देने की अपील करते हुए कहा कि जिन लोगों को टीका लगेगा, वो मास्क पहनने, साबुन से हाथ धोने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना नहीं भूलेंगे. पहली डोज 16 जनवरी को दी जाएगी इसके 28 दिन बाद दूसरा डोज और उसके 14 दिन बाद तीसरा डोज दिया जाएगा. इस दौरान सावधानी और सतर्कता बरतनी जरूरी है.

बिहार में 16 तारीख से वैक्सीनेशन शुरू होगा. सबसे पहला टीका पटना के आईजीआईएमएस में सुबह के 10 बजकर 45 मिनट पर दिया जाएगा. जिसके गवाह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय समेत विभाग के सभी बड़े अधिकारी बनेंगे. जिसकी सारी तैयारी पूरी कर ली गयी है.

बता दें कि वैक्‍सीन की पहली खेप स्पाइसजेट के विमान से पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट से सीधे पटना पहुंची है. पहले वैक्सीन की खेप कोलकाता होकर आने वाली थी लेकिन अब यह सीधे पटना पहुंची. इस फ्लाइट से साढे पांच लाख कोरोना वैक्सीन आयी है. भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच वैक्सीन को तीन रेफ्रिजरेटेड वैन में लोड कर एनएमसीएच अस्पताल लाया गया.

बिहार के अलग-अलग जिलों में 300 जगहों पर टीकाकरण दिया जाएगा. इसके साथ पूरे पटना में 50 जगहों पर वैक्सीनेशन होगा. इनमें 27 छोटे-बड़े सरकारी अस्पताल और करीब 23 प्राइवेट अस्पताल शामिल होंगे. सबसे पहले हेल्थ वर्कर को कोरोना की वैक्सीन लगायी जायेगी. इसके बाद फ्रंटलाइन वर्कर्स को दिया जाएगा.