नहीं रहे बिहार के पूर्व महाधिवक्ता रामबालक महतो, राज्यपाल और मुख्यमंत्री नीतीश ने जताया शोक

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार के पूर्व महाधिवक्ता रामबालक महतो नहीं रहे. गुरुवार को उनका निधन हो गया. वे 90 वर्ष के थे. वे कई दिनों से बीमार चल रहे थे तथा उनका इलाज मगध मेडिका हॉस्पिटल में चल रहा था.

बताया जाता है कि आज उन्हें हार्ट अटैक आया था. इसके बाद उन्होंने अंतिम सांस ली. वे छह बार राज्य के महाधिवक्ता बने तथा सबसे अधिक बार इस पद पर बने रहने का रिकॉर्ड बनाया था. वे पहली बार 1980 में महाधिवक्ता बने थे. पहली बार 1980 में महाधिवक्ता बने. दूसरी बार 1985-89 तक, तीसरी बार 1990-93 तक और चौधी बार 2010-2015 तक वो महाधिवक्ता रहे. इसके बाद 5वीं बार और 6ठी बार 2015 में भी वह महाधिवक्ता बने.



रामबालक महतो के निधन पर राज्यपाल फागू चौहान, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव समेत अनेक नेताओं ने गहरी संवेदना व्यक्त की है. मुख्यमंत्री ने कहा कि राम​बालक महतो प्रसिद्ध कानूनविद और बहुमुखी प्रतिभा के धनी व्यक्ति थे. कानून के क्षेत्र में उन्होंने अपनी खास पहचान बनाई. उनके निधन से कानून के क्षेत्र में अपूरणीय क्षति हुई है.