पूर्व एमएलसी कपिलदेव सिंह का निधन, बिहार में शोक की लहर, सीएम नीतीश, सीपी ठाकुर ने जतायी संवेदना

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क : नालंदा जिले के पूर्व विधान परिषद सदस्य व नालंदा जिलापरिषद के पूर्व अध्यक्ष कपिल देव प्रसाद सिंह का शनिवार सुबह छह बजे पटना के तारा हॉस्पिटल में निधन हो गया. पोखरपुर निवासी कपिलदेव सिंह की तबियत लंबे समय से खराब चल रही थी. ब्रेन हेमरेज के बाद तारा हॉस्पिटल,पटना में ऑपरेशन हुआ था, लेकिन ऑपरेशन के 17 दिन बाद उनका निधन हो गया.

पूर्व एमएलसी कपिलदेव सिंह करीब 68 साल के थे. वह अपने पीछे पत्नी, तीन बेटे-बहू, पोता-पोती के साथ परिवार के अन्य सदस्यों को छोड़ कर चले गए. एक समय कपिल देव प्रसाद सिंह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और लालू प्रसाद के करीबी माने जाते थे.



मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पूर्व विधान पार्षद कपिलदेव सिंह के निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है. अपने शोक-संदेश में मुख्यमंत्री ने कहा कि स्व0 कपिलदेव सिंह एक कुशल राजनेता एवं समाजसेवी थे. वे नालन्दा जिला परिषद के पूर्व अध्यक्ष भी थे. उनके निधन से राजनीतिक एवं सामाजिक क्षेत्रों में अपूरणीय क्षति हुयी है. मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की चिर शान्ति तथा उनके परिजनों को दुःख की इस घड़ी में धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है.

वहीं बीजेपी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री पद्मश्री डॉ०सी०पी०ठाकुर, राज्यसभा सांसद विवेक ठाकुर एवं लोजपा नेता एवं पूर्व सांसद सूरजभान सिंह ने पूर्व विधान पार्षद कपिलदेव सिंह के निधन पर गहरी शोक संवेदना प्रकट किया. उन्होंने कहा उनके निधन की खबर से स्तब्ध हूं. ईश्वर से दिवंगत आत्मा की चिर शान्ति तथा उनके परिजनों को दुःख को सहने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना किया.

2001 में 23 वर्ष बाद हुए चुनाव में उस समय के केंद्रीय रेलमंत्री नीतीश कुमार अपने गृह जिले नालंदा में अपने स्वजातीय जिला परिषद के सदस्यों के बीच एकजुटता लाने में सफल नहीं हो पाए थे. जिसके कारण नालंदा से 2001 में कपिल देव प्रसाद सिंह ने आसानी से अध्यक्ष पद पर कब्जा जमा लिया था.