पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत में सुधार नहीं, वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत में शनिवार को भी कोई बदलाव नहीं हुआ है. उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया है. विशेषज्ञों की एक टीम लगातार उनकी निगरानी कर रही है.

पूर्व राष्ट्रपति 10 अगस्त को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए और उनकी सैन्य रिसर्च एवं रेफरल (आर एंड आर) अस्पताल में ब्रेन सर्जरी हुई थी. दिल्ली छावनी स्थित आर एंड आर अस्पताल ने पूर्व राष्ट्रपति मुखर्जी के चिकित्सा हालत के बारे में जानकारी दी. अस्पताल ने कहा, पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की स्थिति में आज सुबह कोई बदलाव नहीं हुआ. वह फिलहाल वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं. विशेषज्ञों की एक टीम द्वारा बारीकी से उनकी निगरानी की जा रही है.



बता दें कि 84 वर्षीय प्रणब मुखर्जी को 10 अगस्त को यहां सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया गया था. यहां चिकित्सीय जांच में सामने आया कि उनके मस्तिष्क में एक बड़ा सा थक्का है, जिसके बाद उनकी मस्तिष्क की सर्जरी की गई थी. कोविड-19 जांच में उनके संक्रमित होने की भी पुष्टि हुई थी.

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के जल्द स्वस्थ होने की कामना से पश्चिम बंगाल के बीरभूम में महामृत्युंजय यज्ञ किया गया. यज्ञ का आयोजन किरनहार के जपेश्वर शिव मंदिर में किया जा रहा है जो तीन दिनों तक जारी रहेगा.