जिला और अनुमंडल अस्पतालों में मिलेगा मरीजों को मुफ्त भोजन, कैबिनेट का फैसला, 13 एजेंडों पर लगी मुहर

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : अभी-अभी, बिहार कैबिनेट की बैठक खत्म हो गयी. नीतीश कुमार की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में 13 एजेंडों पर मुहर लगी है. स्वास्थ्य विभाग के प्रस्ताव को मंजूरी दी गयी है. जिसके तहत जिला और अनुमंडल अस्पताल में मरीजों को अब मुफ्त भोजन दिया जाएगा. जीविका दीदियां इन अस्पतालों में भोजन बनाने का काम करेंगी.

स्वच्छ भारत मिशन के लिए 418.16 करोड़ रुपये स्वीकृत किए गए हैं. जल जीवन हरियाली के तहत नव सृजित और विकसित सार्वजनिक जलाशय का रख रखाव जीविका दीदी करेगी. इसके अलावे परिवहन विभाग के प्रस्ताव के तहत पटना शहरी क्षेत्र में डीजल ऑटो को 30 सितम्बर 2021 तक बे-रोक टोक परिचालन जारी रखने को मंजूरी दी गयी है.



बिहार ज्यूडिशियल ऑफिसर्स कंडक्ट रूल्स 2017 को रद्द कर दिया गया है. इसकी जगह बिहार ज्यूडिशियल ऑफिसर्स कंडक्ट रूल्स 2021 स्वीकृत किया गया है. राजगीर,गया और बोधगया में पेयजल उपलब्ध कराने के लिये 456 करोड़ रुपये स्वीकृत किए गए हैं.

गंगा जल अव्यय योजना फेज 1 के लिए राशि स्वीकृत की गयी है. राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग में कुल 3883 पद स्वीकृत किए गए हैं. क्षेत्रिय कार्यालय के लिए ये सारे पद स्वीकृत हुए है. हर घर नल का जल के लिए 300 करोड़ की राशि स्वीकृत की गयी है. कंटीजेंसी फंड से स्वीकृत हुई ये राशि.

इसके अलावे अरुण कुमार वर्मा वाणिज्य कर न्यायधिकरण के सदस्य बनाए गए हैं, वहीं डॉ ज्ञानेश्वर नाथ राय, डॉ मनोज कुमार राठौर को सेवा से बर्खास्त करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गयी है. ये लोग कई सालों से गैरहाजिर थे