बड़ी खबर : एक जून से 200 ट्रेनों में आरएसी में भी कर सकते हैं सफर

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : रेलवे ने शनिवार को ट्रेनों की आवाजाही को लेकर स्थिति स्पष्ट की. रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने कहा कि एक मई से शुरू की गईं श्रमिक ट्रेनों से अब तक 45 लाख प्रवासी मजदूर सफर कर चुके हैं. इनमें 80% मजदूर यूपी-बिहार के थे. उन्होंने बताया कि ट्रेन परिवहन की स्थितियां सामान्य करने के लिए अगले 10 दिन में 2600 ट्रेनें शुरू की जाएंगी और इनमें 36 लाख लोग सफर करेंगे.

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने कहा कि 1 जून से 200 मेल-एक्सप्रेस ट्रेनें शुरू की जाएंगी. लोग 30 दिन पहले एडवांस में रिजर्वेशन करा सकेंगे. आरएसी यानी रिजर्वेशन अगेंस्ट कैंसिलेशन को परमिशन दी गई है. लेकिन वेटिंग लिस्ट के यात्री जर्नी नहीं कर सकेंगे.

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने कहा कि अगले 10 दिन में 2600 ट्रेनें चलाई जाएंगी. यह श्रमिक स्पेशल ट्रेनें आंध्र से असम, बिहार से बिहार, छत्तीसगढ़ से छत्तीसगढ़, दिल्ली से गुजरात, गोवा से जम्मू-कश्मीर, गुजरात से कर्नाटक हरियाणा से झारखंड, जम्मू-कश्मीर से केरल, कर्नाटक से मणिपुर, केरल से ओडिशा, मध्य प्रदेश से राजस्थान, महाराष्ट्र से उत्तराखंड, पंजाब से उत्तराखंड, राजस्थान से त्रिपुरा, तमिलनाडु से उत्तर प्रदेश, तेलंगाना से पश्चिम बंगाल के बीच चलाई जाएंगी.