गंगा नदी खतरे के निशान से ऊपर, पटना पर मंडराया बाढ़ का खतरा

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार में कोरोना के साथ बाढ़ भी तबाही मचा रही है. सूबे की कई नदियां उफान पर हैं. लाखों लोग बाढ़ से प्रभावित हैं. लोगों को रहने-खाने में परेशानी हो रही है. बाढ़ से जनजीवन पूरी तरह अस्त-व्यस्त हो चुका है. लाखों की आबादी बाढ़ के कारण बेघर हो चुकी है. वहीं, राजधानी पटना में गंगा नदी का जलस्तर खतरे के निशान को पार कर गया है. नदी से सटे इलाकों में बाढ़ जैसी नौबत आ गई है.

पटना में हर दो घंटे पर गंगा नदी के जलस्तर में 1 सेंटीमीटर की वृद्धि दर्ज की जा रही है. लगातार रुक-रुककर हो रही बारिश के कारण गंगा नदी के जलस्तर में वृद्धि हो रही है. तस्वीरों में आप देख सकते हैं कि जलस्तर में वृद्धि के कारण पुल के पाए भी पानी में डूब गए हैं. ॉ



गंगा नदी में बढ़ रहे पानी से पटना पर बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है. जिला प्रशासन अलर्ट मोड में आ गया है. बाढ़ से निपटने के लिए हर एक तैयारी की जा रही है. नदी के किनारे बसे लोगों के सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाया जा रहा है. जिला प्रशासन का कहना है कि हम हर आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं.

ये हाल केवल पटना का ही नहीं बल्कि बिहार के कई जिलों का भी यही हाल है. बिहार में बाढ़ से हालात दिन प्रतिदिन और खराब होते जा रहे हैं. कई जिलों के हाल बहुत ज्यादा ख़राब हैं. लोग सरकारी मदद की आस लगाए बैठे हैं.