IAS सीके अनिल को काम पर लौटने का मिला निर्देश

लाइव सिटीज डेस्क : BSSC मामले में फरार चल रहे IAS सीके अनिल को काम पर योगदान करने का निर्देश दिया गया है. उन्हें जनरल एडमिनिस्ट्रेशन विभाग से ईमेल के माध्यम से यह निर्देश भेजा गया है. कहा जा रहा कि योगदान नहीं करने पर सीके अनिल के खिलाफ प्रशासनिक कार्रवाई हो सकती है. 

बीएसएससी मामले में फर्जी हस्ताक्षर करने के आरोपी सीके अनिल अब तक एसआइटी के सामने नहीं आये हैं. वह अपने कार्यालय भी नहीं आ रहे हैं. एसआइटी उनको दो बार नोटिस भेज चुकी है, लेकिन वह एसआइटी के सामने अपना पक्ष नहीं रख सके हैं. 

बता दें कि सीके अनिल बिहार राज्य योजना पर्षद के परामर्शी के पद पर नियुक्त हैं.  साथ ही उनके पास बीएसएससी के ओएसडी का अतिरिक्त प्रभार है. लगातार अनुपस्थिति रहने पर उन्हें पहले भी नोटिस भेजी गयी थी. हाल में ही उन्होंने मीडिया को पत्र लिखा था. सूत्रों के मुताबिक सीके अनिल के पत्र के सिलसिले में भी सरकार की ओर से जवाब दिया गया. उन्हें योगदान देकर अपनी बात रखने को कहा गया है.

हालांकि उन्होंने मीडिया के माध्यम से एक पत्र जरूर जारी किया था. जिसमें उन्होंने राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से मामले की सीबीआइ से जांच करने की मांग की थी. उन्होंने अपने को निर्दोष बताया था और एसआइटी पर सरकार के दबाव में काम करने की बात कही थी. अब एसआइटी का कहना है कि सीके अनिल को एक बार फिर नोटिस भेजा जायेगा.

यह भी पढ़ें-  BSSC : IAS सुधीर कुमार व परमेश्वर राम की बढ़ी न्यायिक हिरासत