अगर नौकरी की है तलाश तो चले आइए बुंदेलखंड, अरबों हुए हैं इन्वेस्ट यहां

लाइव सिटीज डेस्क : देश में भले ही बेरोजगारी की बात हो रही हो. लेकिन बुंदेलखंड में रोजगार की भरमार आने वाली है. जिन युवाओं को नौकरी चाहिर वे कमर कस कर आ जाएं बुन्देलखंड. बुंदेलखंड  के विकास को पंख लगने लगे हैं. शुरुआत झांसी और ललितपुर से हो गई है. दोनों जिलों में दिग्गज कंपनियां पांच अरब का निवेश करने जा रही है. नई औद्योगिक नीति और रोजगार प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत 4 बड़ी कंपनियों ने जमीन लेकर काम शुरू कर दिया है. सरकार के इस प्रयास बुंदेलखंड  में रोजगार के असवर पैदा होंगे और युवाओं का पलायन रुकेगा. 8वीं पास के लिए सरकारी नौकरी पाने का सुनहरा मौका, यहां निकली है बंपर वैकेंसी

बुंदेलखंड  में लंबे समय से उद्योगों के स्थापना की मांग उठती रही है, ताकि यहां के लोगों को यहीं पर रोजगार मिल सके. यहां उद्योगों की कमी से अधिकांश लोग गुजरात, दिल्ली और पंजाब चले जाते हैं। नई औद्योगिक निवेश एवं रोजगार प्रोत्साहन योजना के जरिए अब युवाओं को बुंदेलखंड  में ही रोजगार मिलेगा. प्रथम चरण में झांसी और ललितपुर बीयर, डिटर्जेंट पाउडर, सोलर प्लांट, एक्सप्लोसिव, प्लास्टिक बोरी आदि का निर्माण शुरू होगा. उपायुक्त उद्योग विभाग सुधीर श्रीवास्तव ने बताया कि इन उद्योगों के लगने से यहां के सैकड़ों लोगों को रोजगार मिल सकेगा. कंपनियों के आने से रोजगार की अपार संभावनाएं हो गई है. लोग यहीं पर अच्छा रोजगार प्राप्त कर सकेंगे. बिहार में जाने वाली है 80 हजार लोगों की नौकरी, जारी हो गया है आदेश



बता दें कि सोलर प्लांट, फूड प्रोसेसिंग प्लांट, डिटर्जेंट पाउडर की फैक्ट्री, प्लास्टिक की बोरियां, एक्सप्लोसिव आदि की फैक्ट्री लगने जा रही है. झांसी के बड़ागांव ब्लॉक के अंर्तगत बचावली बुजुर्ग में एक कंपनी ने सोलर प्लांट लगाने के लिए 250 एकड़ भूमि ली है. यहां पर 3.50 अरब का निवेश किया जा रहा है. ललितपुर के पाली के अंर्तगत ग्राम साजा में 55.51 करोड़ की लागत से फूड प्रोसेसिंग प्लांट लगाया जा रहा है. गरौठा तहसील के अंर्तगत लहचूरा में 58 करोड़ का निवेश किया जा रहा है. यहां पर एक कंपनी डिटर्जेंट पाउडर बनाएगी. पाल कॉलोनी झांसी में ही एक कंपनी 10 करोड़ का निवेश कर चुकी है. यहां पर प्लास्टिक की बोरी बनाने का प्लांट बनाया जाएगा. झांसी के बबीना अंर्तगत ग्राम नया खेड़ा में एक कंपनी ने 60 करोड़ का निवेश कर रही है. 750 एकड़ की भूमि में बनने वाले इस प्लांट में एक्सप्लोसिव और डेटोनेटर आदि बनेंगे.