बिहार में छात्रों को बड़ी सुविधा, हट गई है उन साइट्स पर से पाबंदी, जिसकी है जरूरत

लाइव सिटीज डेस्क : मुख्यमंत्री के 7 निश्चय में शामिल फ्री वाई-फाई कैंपस योजना के तहत छात्र-छात्रओं को वन टाइम लॉगिंग के साथ ही व्हाट्सएप, फेसबुक, यूट्यूब व ई-कॉमर्स साइट के इस्तेमाल की सुविधा होगी. उपमुख्यमंत्री एवं सूचना व प्रौद्योगिकी मंत्री सुशील मोदी ने बुधवार को फ्री वाई-फाई योजना की समीक्षा के बाद उक्त निर्देश दिए.

उन्होंने सेवा प्रदाता कंपनी के अधिकारियों को ज्यादा से ज्यादा विद्यार्थियों का योजना के तहत निबंधन करने का निर्देश दिया है. फ्री वाई-फाई कैम्पस योजना के तहत 300 कॉलेजों में यह सुविधा उपलब्ध करा दी गई है. जून तक जहां इसके मात्र 20 हजार निबंधित यूजर्स थे वहीं अब उनकी संख्या बढ़कर 49 हजार हो गई है.

SUSHIL-MODI-PC
प्रेस कांफ्रेंस में सुशील मोदी

वाई-फाई यूजर्स महीने में 10 और प्रतिदिन 1 जीबी तक डाटा डाउनलोड कर सकते हैं. निर्बाध सुविधा के लिए सरकार गुणवत्तापूर्ण विद्युत आपूर्ति के मद्देनजर सोलर पैनल पर 23 करोड़ रुपये खर्च करेगी. उपमुख्यमंत्री ने वाई-फाई उपकरणों की देखरेख कर रहे एल एंड टी के 60 इंजीनियरों को निर्देश दिया कि वे कॉलेजों मे कैम्प लगा कर अधिक से अधिक छात्र-छात्रओं को इस योजना की जानकारी दें और उनका निबंधन करें. अभी तक यूजर्स को फ्री वाई-फाई के लिए बार-बार लॉगिन करना पड़ता था. मगर, अब एक बार लॉगिन करने के बाद वे अपने डिवाइस को जब चाहे वाई-फाई से कनेक्ट रख सकेंगे.
भारत नेट के अन्तर्गत पंचायतों में ब्रॉड बैंड इंटरनेट की योजना की एक अन्य समीक्षा बैठक के बाद बताया गया कि भारत सरकार ग्रामीण इंटरनेट उपभोक्ताओं को प्रतिमाह 10 जीबी हाईस्पीट डाटा उपलब्ध कराएगी. यह सुविधा सामान्य से करीब 75 फीसद सस्ती होगी. पहले चरण की योजना की समीक्षा के बाद बताया कि 4699 पंचायतों में ऑप्टिकल फाइबर बिछाया जा चुका है. 3161 पंचायतों के पंचायत भवन में उपकरण स्थापित किए जा चुके हैं. मकरसंक्रांति के बाद इस योजना का शुभारंभ बिहार में कर दिया जाएगा.’ छात्र-छात्राओं को वन टाइम लॉगिंग के साथ यूट्यूब व ई-कॉमर्स साइट के इस्तेमाल की भी सुविधाएं दी जाएंगी

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*